खून की कमी के घरेलू उपचार ( Khoon ki kami ka ilaj )

Anemia Symptoms and Khoon ki kami ka ilaj in Hindi :

खून की कमी के घरेलू उपचार ( Khoon ki kami ka ilaj ) :

खून की कमी पुरुषों की तुलना में महिलाओं में ज्यादा होती हैं। खून की कमी से शरीर में अनेक बीमारियां होने का खतरा रहता हैं। हमारे खून में आयरन की कमी से हीमोग्लोबिन की कमी हो जाती हैं, जिसे एनीमिया रोग कहा जाता हैं। हमें अपने आहार में हीमोग्लोबिन बढ़ाने वाले फल एवं सब्जियों को शामिल करना चाहिए। हीमोग्लोबिन को बढ़ाने के लिए संतुलित आहार, व्यायाम, भोजन में हरी सब्जियां, दालें, अनार आदि फल लेना चाहिए। हीमोग्लोबिन की कमी हो जाने से खून में लाल रक्त कणिकाओं की कमी हो जाती हैं. ये लाल रक्त कोशिकाएं शरीर में रक्त संचरण का कार्य करती हैं, इसलिए शरीर में ऑक्सीजन की कमी होने लगती हैं। खून की कमी होने से हमारा शरीर सही ढंग से कार्य नहीं कर पाता हैं। हमें स्वस्थय रहने के लिए हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा सही रहना जरुरी हैं। हम आपको खून की कमी के कारण और आयुर्वेदिक तरीके से खून की कमी को दूर करने के Khoon ki kami ka ilaj, Khun Ki Kami Ke Lakshan, Anemia Symptoms और Khoon ki kami ka Gharelu Upay उपाय बताते हैं..

खून की कमी के लक्षण ( Khun Ki Kami Ke Lakshan ) :

शरीर में खून की कमी हो जाने पर रोगी कमजोरी, थकावट, शक्तिहीनता और चक्कर आना जैसे लक्छण बताता है। अन्य लक्छण गिनावें तो चमडी पर समय पूर्व झुर्रियां पड जाना ,याददाश्त की कमी, मामूली काम करने या चलने पर सांस फ़ूल जाना, घाव हो जाने पर उसके ठीक होने या भरने में जरूरत से ज्यादा वक्त लगना,सिर दर्द होना और दिल की धडकन बढ जाना ये लक्षण भी रक्त की कमी के रोगी में अक्सर देखने को मिलते हैं। एनिमिया रोगी की श्लेष्मिक झिल्लियां पीली दिखाई देती हैं।

Khoon ki kami ka ilaj

खून की कमी के घरेलू उपचार ( Khoon ki kami ka ilaj in Hindi ) :

  1. शरीर में लोह तत्व बढाने के लिये सबसे अच्छा तरीका यह है. भोजन से इसकी पूर्ति करें। चाय,काफ़ी और अम्ल विरोधि (एन्टासिड) दवाएं उपयोग में न लाएं। ये चीजें शरीर द्वारा लोह तत्व ग्रहण करने की प्रक्रिया को बाधित करते हैं। लोह तत्व की वृद्धि के लिये हरे मटर,हरे चने(छोले),अंडे,मछली, कलेजी दूध का प्रचुर उपयोग करना उत्तम है। जो लोग शाकाहारी हैं वे अपने भोजन में पालक,सभी तरह की हरी सब्जियां, दालें अंजीर,अखरोट बदाम काजू, किशमिश,खजूर, आदि रक्त वर्धक पदार्थो का भरपूर उपयोग करना चाहिये।सेवफ़ल,टमाटर भोजन में शामिल करें।
  2. सेवफ़ल :एक सेवफ़ल के रस में दो चम्मच शहद मिलाकर नित्य पीने से खून की कमी दूर होती है। टमाटर और सेवफ़ल का रस प्रत्येक २०० मिलिलिटर मिश्रण करके रोज सुबह लेने से रक्ताल्पता में आशातीत लाभ  (Khoon ki kami ka ilaj) होता है।
  3. ताजा सलाद : ताजा सलाद खाने और शहद से शरीर में हेमोग्लोबिन बढकर एनिमिया का निवारण होता है। विटमिन बी१२, फ़ोलिक एसिड,और विटामिन सी ग्रहण करने से हेमोग्लोबिन की वृद्धि होती है। दूध,मांस,गुर्दे और कलेजी में प्रचुर विटामिन बी १२ पाया जाता है।
  4. मैथी की सब्जी : मैथी की सब्जी कच्ची खाने से लोह तत्व मिलता है। किशोरावस्था की लडकियों में होने वाली खून की कमी में मैथी की पत्तियां उबालकर उपयोग करने से बहुत फ़ायदा होता है। मैथी के बीज अंकुरित कर नियमित खाने से रक्ताल्पता (Khoon ki kami ka ilaj) का निवारण होता है।
  5. सब्जी और फ़ल : सभी पत्तेदार सब्जीयां और खासकर पालक में प्रचुर मात्रा मे लोह तत्व पाया जाता-है। इनसे मिलने वाला आयरन श्रेष्ठ दर्जे का होता है। यह लोह तत्व शरीर में ग्रहण होने के बाद बडी तेजी से रक्त कण बनते हैं और रक्ताल्पता शीघ्र ही दूर हो जाती है।
  6. खून की कमी दूर करने में सोयाबीन का महत्वपूर्ण स्थान है। इसमे आयरन होता है और श्रेष्ठ दर्जे का प्रोटीन भी होता है। लेकिन एनिमिया रोगी की पाचन शक्ति कमजोर होती है. इसलिये सोयाबीन का दूध बनाकर पीना उचित रहता है।
  7. ७ नग बादाम दो घन्टे पानी में गला दें। फ़िर छिलका उतारकर खरल में पेस्ट बनाकर रोज खाने से नया खून बनता है और रक्ताल्पता लाभ (Khoon ki kami ka ilaj) होता है।
  8. आयरन की गोलियां सरकारी दवाखाने में फ़्री दी जाती हैं। अच्छा फ़ायदा करती है।
  9. आप रोज एक अनार का सेवन करे, इससे बहुत ही जल्दी खून की कमी दूर होगी।
  10. अमरूद- अमरूद जितना ज्यादा पका हुआ होगा, उतना ही पौष्टिक होगा। पके अमरूद को खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी नहीं होती। इसलिए महिलाओं के लिए यह और भी लाभदायक हो जाता है।
  11. आम- आम खाने से हमारे शरीर में रक्ति अधिक मात्रा में बनता है, एनीमिया में यह लाभकारी होता है।
  12. सेब- सेब एनीमिया जैसी बीमारी में लाभकारी होता है। सेब खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन बनता (Hemoglobin Badhane Ke Upay) है।
  13. अंगूर- अंगूर में भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है। जो शरीर में हीमोग्लोबिन बनाता है, और हीमोग्लोबिन की कमी संबंधी बीमारियों को ठीक करने में सहायक होता है।
  14. चुकन्दर- चुकन्दर से प्राप्त उच्च गुणवत्ता का लोह तत्व रक्त में हीमोग्लोबिन का निर्माण व लाल रक्तकणों की सक्रियता के लिए बेहद प्रभावशाली है. खून की कमी यानी एनीमिया की शिकार महिलाओं के लिए चुकंदर रामबाण के समान है। चुकन्दर के अलावा चुकन्दर की हरी पत्तियों का सेवन भी बेहद लाभदायी है। इन पत्तियों में तीन गुना लौह तत्व अधिक होता है।
  15. तुलसी- तुलसी रक्त की कमी को कम करने के लिए रामबाण है। तुलसी के नियमित सेवन से शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा (Hemoglobin Badhane Ke Upay) बढ़ती है।
  16. सब्जियां- शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां को अपने भोजन में शामिल करना चाहिए। हरी सब्जियों में हीमोग्लोबिन बढ़ाने वाले तत्व ज्यादा मात्रा में पाये जाते है।
  17. तिल- तिल हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाता है। तिल खाने से रक्ताअल्पता की बीमारी ठीक (Khoon ki kami ka ilaj) होती है।
  18. पालक- सूखे पालक में आयरन काफी मात्रा होती है। जो शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी को ठीक करता है।
  19. नारियल- नारियल शरीर में उत्तकों, मांसपेशियों और रक्त जैसे महत्वपूर्ण द्रव्यों का निर्माण करता है, यह संक्रमण का सामना करने के लिए इन्जाइम और रोग प्रतिकारक तत्वों के विकास में सहायक होता है।
  20. गुड़- गुड़ में अधिक खनिज लवण होते है। जो हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाने में मदद करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ayurvedic Solution © 2016 Frontier Theme
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.