Category: आम के उपयोग

आम के फायदे ( Mango Aam Ke Fayde in Hindi )

आम के फायदे ( Aam Ke Fayde ) :

आम को फलों का राजा कहते है क्योंकि यह बहुत ही स्वादिष्ठ और मीठा फल हैं। आम का कच्चा फल स्वाद में खट्टा और पका हुवा मीठा होता हैं। आम का खट्टा-मीठा स्वाद सभी को अच्छा लगता हैं इसी कारण गर्मियों में सबसे ज्यादा बिकने वाला फल यही हैं। विश्व में सबसे ज्यादा आम भारत में पाए जाते हैं और भारत में भी लगभग सभी जगह आम बोया जाता हैं। इस कारण सभी जगह आसानी से मिल जाता हैं। हमारे यहाँ आम की लगभग 1000 किस्मे पायी जाती हैं। वर्तमान में कलमी आमों का प्रचलन ज्यादा हो रहा हैं। आम को काटकर खाया जाता हैं और कुछ आमों को चूस कर भी खाया जाता हैं कुछ लोग आम का ज्यूस बना भी आनंद लेते हैं। आम के साथ इसकी गुठली भी काफी उपयोगी हैं इसकी गुठली बाजार में बिकती भी हैं और इससे कई तरह की उपयोगी दवाइयां बनती हैं। ये तो मेरे को पता है की आप आम को खूब अच्छे से जानते हैं, पर आम खाने के फायदे Aam ke fayde क्या है, आम खाने के नुकसान क्या है, आम के लाभ और गुण क्या है इनके बारे में हम आज बात करेगे। आज हम आपको आम खाने के फायदे और आम के ज्यूस (Mango juice benefits) के फायदे व इसका ओषधियों में प्रयोग बताते हैं –

आम को औषधि के रूप में भी काम में लेते हैं। आम में 81 प्रतिशत जल, 16.9 प्रतिशत कार्बोज, 0.14 प्रतिशत कैल्शीयम, 0.4 प्रतिशत वसा, 0.7 प्रतिशत रेशा, फास्फोरस, लौह तत्व, विटामिन और खनिज लवण पाए जाते हैं।

Aam Ke Fayde

आम के फायदे ( Mango Aam Ke Fayde in Hindi ) : Aam khane ke fayde, Mango Aam khane ke labh.

  • दूध में आम का रस मिला कर पिए इससे शरीर की कमजोरी दूर होगी, आम का ज्यूस शरीर में खून की कमी को भी दूर करता हैं।
  • भोजन के साथ नियमित आम का सेवन करने से कमजोर शरीर वाले आदमी मोटे हो सकते हैं।
  • गर्मियों में आम का सेवन करने से व्यक्ति लू लगने से दूर रहता हैं साथ ही यह त्वचा का रंग भी साफ करता हैं।
  • आम के पत्तो को जलाकर इसकी राख को घाव पर लगाने से घाव जल्दी ठीक होता हैं।
  • कच्चे आम के प्रयोग से पथरी बहार निकल जाती हैं पर इसका उपयोग ज्यादा नही करें।
  • आम और आम का ज्यूस पीलिया, क्षय रोग, आंखों के रोग, पेट के रोगों, कब्ज, अल्सर, बवासीर और पाचन-शक्ति में लाभदायक है।
  • आमपाक : दो किलो कच्चे आमों को छीलकर कतर लें। फिर दो लीटर पानी में पकाएं। जब आधा पानी रह जाए तब ठंडा कर धो लें। फलालेन के कपड़े में रस टपका लें। फिर इस अर्क के समान शकर मिला पक्की चाशनी कर लें। इसे खाने से मन प्रसन्न रहता है। इसे अंगरेजी में ‘मैंगो जैली’ कहते हैं।
  • दुग्ध के साथ आम : इसका सेवन अत्यंत लाभदायक है। यह स्वादिष्ट और रुचिवर्धक होने के साथ-साथ वातपित्त कफनाशक, बलवर्धक, पौष्टिक और रंग को निखारने वाला है।
  • आम की गुठली : आम की गुठली के गूदे में बहुत से पौषक तत्व सम्मिलित हैं। आयुर्वेद शास्त्र में इसका खूब उपयोग किया गया है।
  • गले के रोग : आम के पत्तों को जलाकर गले के अंदर धूनी देने से गले के अनेक रोग दूर होते हैं। जी मिचलाना, पेट की जलन : आम की मिंगी के 5 ग्राम चूर्ण को दही के साथ मिलाकर सेवन करने से जी मिचलाना और पेट की जलन दूर होती है। (Mango Aam Ke Fayde).
  • बिच्छू, ततैया, मकड़ी का विष : अमचूर को पानी में पीसकर विषैले स्थान पर लगाएं। इससे विष और फफोले में शीघ्र आराम होता है।
  • फुंसियां : आम की छाल पानी में घिसकर लगाएं।
Ayurvedic Solution © 2016 Frontier Theme
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.