Category: दाँत के घरेलू उपचार

पायरिया के 10 घरेलु उपाय ( Payriya ke 10 Gharelu Upay )

पायरिया (Pyorrhea) को periodontitis disease भी कहा जाता हैं। इसमें मुसाडो में सूजन और सांसो से बदबू आने लगती हैं। यह बीमारी अधिकतर दांतो और मसूड़ों की देखभाल नही करने से होती है। जिससे bacterial infection के कारण दन्त और मसूड़े खराब होने लगते हैं। यदि पायरिया पर ध्यान नही दिया जाये तो मसूड़े कमजोर हो जाते हैं और खून निकलने लगते हैं। ब्रश और दांतो की देखभाल नही करने से दांत का पिला पड़ना, सड़न पड़ा होना, खून आना, सूजन आना, कीड़े लगना और ज्यादा होने पर दांत गिरने का खतरा भी हो जाता है। यदि एक बार दांत गिर जाये तो हमारी सुंदरता और स्वास्थ्य पर प्रभाव डालते हैं। आज हम आपको Payriya rog की रोकथाम करने के घरेलु उपाय बताते हैं।

पायरिया के 10 घरेलु उपाय ( Payriya ke 10 Gharelu ilaj ) :

  1. नमक में बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता होती हैं. सरसों के तेल में थोड़ा नमक मिलाकर दांत और मसूड़ो पर हलके से मले। दिन में दो बार करने से कुछ ही दिनों में पायरिया रोग सही हो जायेगा।
  2. पीपल की छाल और उसकी कोमल डंठल को पानी में उबाल कर सेवन करे, पायरिया रोग में फायदा होगा।
  3. निम्बू को काटकर इसके रस को अपने मसूड़ो पर लगाये, मसूड़ो से खून आना बंद हो जायेगा और पायरिया भी जल्दी ठीक हो जायेगा।आप निम्बू में शहद मिलाकर भी दांतो पर मल सकते हैं।
  4. एक गिलाश हलके गर्म पानी में दो चम्मच नमक डालकर मिला ले, फिर इस पानी से कुछ देर कुल्ला करे, दिन में दो बार करे, जल्दी ही Payriya में फायदा होगा।
  5. मसूड़ो की नारियल तेल, तिल का तेल या सरसों के तेल से हलकी मालिश करने से भी पायरिया रोग में फायदा होता है। फिर ब्रश कर ले।
  6. बाबुल के पेड़ की लकड़ी को जलाकर उसमे थोड़ा कोयला मिला कर पावडर बना ले, और इसे अपने दांतो और मसूड़ो पर हलकी मालिश करे, जल्दी ही पायरिया रोग में फायदा मिलेगा।
  7. एक कफ हलके गर्म पानी में 5 लौंग डालकर उबाल ले, थोड़ा ठंडा होने पर कुछ देर इससे कुल्ला करे। आपका पायरिया रोग ठीक हो जायेगा।
  8. हल्दी को लेकर अपनी उंगली से दांतो पर ब्रश करे, यह मसूड़ो के दर्द और सूजन को कम करती हैं।
  9. अमरुद को नमक के साथ धीरे धीरे खाये, मसूड़े मजबूत होते हैं। अमरुद के पेड़ के पत्ते को चबाने से भी मसूड़े मजबूत होते हैं, पर पत्तियो को चबा कर वापस थूक दें।
  10. नीम में बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता होती हैं, इसलिए नीम की दांतुन करने से मसूड़े स्वस्थ्य और मजबूत होते हैं। आप नीम का रस भी दांतो पर लगा सकते हैं।
  11. आप काली मिर्च में थोड़ा नमक मिलकर दांतो पर मालिश करें, जल्दी ही दांत और मसूड़े मजबूत होंगे, और दांतो का पीलापन सही होगा।
  12. तुलसी के पत्तो को पीस कर उससे दांतो की मालिश करें। या फिर तुलसी के पावडर में सरसों के तेल को मिलाकर दांतो की मालिश करें, दांत का दर्द और पायरिया में फायदा होगा।
  13. अदरक को पीसकर उसमे नमक मिला ले, और इसे दांत व मसूड़ो पर मले, मसूड़ो की सूजन कम हो जाएगी।
  14. आप दो आंवले को चबाचबा कर खाये, कुछ ही दिनों में Payriya rog में फायदा होता है।
  15. आम की गुठली को पीस कर इसके चूर्ण से दांत मंजन करें, जल्दी ही पायरिया रोग में फायदा होगा।

दाँत दर्द का घरेलू इलाज ( Dant Dard ka Gharelu ilaj )

Dant Dard ka Gharelu ilaj aur Home Remedies for Tooth Pain :

Dant Dard ka Gharelu ilaj और Home Remedies for Tooth Pain – दाँत दर्द होना बहुत बड़ी बात नहीं हैं, यह कैल्शियम (Calcium) की कमी से या फिर दाँत सही तरह से साफ न करने पर दांतों में कीड़े लग जाते हैं जिसके कारण हमारे दांतों में दर्द होने लगता हैं। खट्टा, मीठा और ठंडा या ज्यादा गर्म चीज खाने या पीने से भी दांतों में दर्द हो जाता हैं। दांतों में बैक्टीरिया इन्फेक्शन (bacteria infection) से भी दाँत दर्द हो जाता हैं। दाँत दर्द होने पर हम खाने पीने की चीजों से दूर हो जाते हैं. किसी भी काम में हमारा मन नहीं लगता हैं जिससे आपके स्वास्थ पर असर पद सकता हैं। इसलिए सही समय पर Gharelu Nuskhe for Teeth Pain, toothache home remedies, home remedies for toothache, Home Remedies for Tooth Pain का प्रयोग कर लेना चाहिए। दाँत हमारे शरीर का बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा हैं. और इनकी देखभाल करना हमारी जिम्मेदारी हैं। आज हम आपको आयुर्वेदिक तरीकों से Dant Dard Ka Gharelu Upay और Dant Dard ka Gharelu ilaj, Gharelu Nuskhe for Teeth Pain के बारे में बताते हैं –

Home Remedies for Tooth Pain Dant Dard ka Gharelu ilaj

दाँत दर्द के घरेलू उपचार (Dant Dard ka Gharelu ilaj) :

  1. पिसी हल्दी, नमक व सरसो का तेल मिलाकर पेस्ट सा बना कर उसे डिब्वे में रख ले सुबह इस पेस्ट को ब्रुश अथवा उगली के द्वारा दाँतों व मसूड़ों पर लगा लें थोड़ी देर लगा कर रखे फिर बाद में कुल्ला कर लें इस प्रयोग से हिलते हुए दाँत जम जाते हैं. दाँतो से पीलापन दुर होकर दाँत विल्कुल सफेद हो जाते हैं।इस प्रयोग करते रहने से कभी भी पायरिया नही होगा।
  2. नींबू के छिलकों पर थोड़ा-सा सरसों का तेल डालकर दाँत एवं मसूढ़ों पर लगाने से दाँत सफेद एवं चमकदार होते हैं. मसूढ़े मजबूत होते हैं, हर प्रकार के जीवाणुओं तथा पायरिया आदि रोगों से बचाव होता है।
  3. जामफल के पत्तों को अच्छी तरह चबाकर उसका रस मुँह में फैलाकर, थोड़ी देर तक रखकर थूक देने से अथवा जामफल की छाल को पानी में उबालकर उसके कुल्ले करने से हर तरह के दाँत के दर्द में (Dant Dard ka Gharelu ilaj) लाभ होता है।
  4. हींग दांत में दर्द से तुरंत मुक्ति दिलाता है । हींग को मौसमी के रस में डुबोकर दांतों में दर्द की जगह पर रखें, मौसमी न होने पर हींग में नींबू भी मिलाया जा सकता है। इससे शीघ्र ही आपको दर्द से छुटकारा मिल जायेगा।
  5. तिल के तेल में पीसा हुआ नमक मिलाकर उँगली से दाँतों को रोज घिसने से दाँत की पीड़ा दूर होती है ।
  6. दांतों के दर्द में लौंग दांतों के सभी बैक्टीरिया को नष्ट कर सकता हैं। ऐसे में लौंग को दांतों के दर्द की जगह पर रखना चाहिए, कुछ ही देर में आपका दर्द जाता रहेगा। लेकिन चूँकि इसमें दर्द कम होने की प्रक्रिया थोड़ी धीमी होती है. इसलिए इसमें धैर्य रखना चाहिए ।
  7. जामुन के वृक्ष की छाल के काढ़े के कुल्ले करने से दाँतों के मसूढ़ों की सूजन मिटती है व हिलते दाँत भी मजबूत होते हैं।
  8. प्याज दांत दर्द के लिए एक उत्तम घरेलू उपचार है। जो व्यक्ति रोजाना कच्चा प्याज खाते हैं उन्हें दांत दर्द की शिकायत होने की संभावना कम रहती है क्योंकि प्याज में कुछ ऐसे औषधीय गुण होते हैं. जो बैकटीरिया को नष्ट कर देते हैं। अगर आपके दांत में दर्द है तो प्याज के टुकड़े को दांत के पास रखें अथवा प्याज चबाएं। आपको आराम महसूस होने लगेगा।
  9. 10 ग्राम बायविडंग और 10 ग्राम सफेद फिटकरी थोड़ी कूटकर तीन किलो पानी में उबालें। एक किलो बचा रहने पर छानकर बोतल में भरकर रख लें। तेज दर्द में दिन में 2-3 बार इस पानी से कुल्ला करने से दो दिन में ही आराम आ जाता है.। कुछ अधिक दिन कुल्ला करने से दाँत पत्थर की तरह मजबूत हो जाते हैं।
  10. प्रायः दाढ़ में कीड़ा लगने पर असहय दर्द उठता है। तब अमरूद के पत्ते के काढ़े से कुल्ला करने से दाँत और दाढ़ की भयानक टीस और दर्द दूर हो जाता है। पतीले में पानी में अमरूद के पत्ते डालकर इतना उबालें कि वह पानी उबाले हुए दूध की तरह गाढ़ा हो जाए।
  11. नमक के पानी के कुल्ले करने एवं कत्थे अथवा हल्दी का चूर्ण लगाने से गिरे हुए दाँत का रक्तस्राव जल्दी ही बंद हो जाता है।
  12. लहसुन में एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं जो अनेकों प्रकार के संक्रमण से लड़ने की क्षमता रखते हैं। लहसुन में एलीसिन होता है जो दांत के पास के बैकटीरिया, जर्म्स, जीवाणु इत्यादि को नष्ट कर देता है।इसलिए एक फांक लहसुन को सेंधा नमक के साथ पीसकर यदि आप दांतों में दर्द की जगह पर लगायेंगे तो आपको दर्द में आराम (Dant Dard ka Gharelu ilaj) मिलेगा।
  13. दाँत-दाढ़ दर्द में अदरक का टुकड़ा कुचलकर दर्द वाले दाँत में रखकर मुँह बंद कर लें और धीरे-धीरे रस चूसते रहें। फौरन राहत महसूस होगी।
  14. नीम के पत्तों की राख में कोयले का चूरा तथा कपूर मिलाकर रोज रात को सोने से पहले लगाकर पायरिया में लाभ होता है।
  15. सरसों के तेल में सेंधा नमक मिलाकर दाँतों पर लगाने से दाँतों से निकलती दुर्गन्ध एवं रक्त बंद होकर दाँत मजबूत होते हैं तथा पायरिया भी जड़ से ख़त्म हो जाता है।
  16. फिटकरी को तवे या लोहे की कड़ाही में पानी के साथ आग पर रखें। जब पानी जल जाए और फिटकरी फूल जाए तो तवे को आग पर से उतारकर फिटकरी को पीसकर बारीक चूर्ण बना लें। जितना फिटकरी का पावडर बने उसका 1/4 भाग पिसी हल्दी उसमें मिला कर लकड़ी की सींख की नोक से दाँत के दर्द वाले स्थान पर या सुराख के भीतर यह मिश्रण भर दें।यह बहुत ही लाभकारी प्रयोग है ।
  17. भोजन अथवा अन्य किसी भी पदार्थ को खाने के बाद अच्छी तरह से कुल्ला जरूर करें तथा गर्म वस्तु के तुरंत पश्चात् ठण्डी वस्तु का सेवन न करें.।
  18. 10 ग्राम बायविडंग और 10 ग्राम सफेद फिटकरी थोड़ी कूटकर तीन किलो पानी में उबालें। एक किलो बचा रहने पर छानकर बोतल में भरकर रख लें। तेज दर्द में सुबह तथा रात को इस पानी से कुल्ला करने से दो दिन में ही आराम आ जाता है. कुछ अधिक दिन कुल्ला करने से दाँत पत्थर की तरह मजबूत (Dant Dard ka Gharelu ilaj) हो जाते हैं।
  19. अमरूद के पत्ते के काढ़े से कुल्ला करने से दाँत और दाढ़ की भयानक टीस और दर्द दूर हो जाता है। प्रायः दाढ़ में कीड़ा लगने पर असहय दर्द उठता है. काढ़ा तैयार करने के लिए पतीले में पानी डालकर उसमें अंदाज से अमरूद के पत्ते डालकर इतना उबालें कि पत्तों का सारा रस उस पानी में मिल जाए और वह पानी उबाले हुए दूध की तरह गाढ़ा हो जाए।
  20. दाँत-दाढ़ दर्द में अदरक का टुकड़ा कुचलकर दर्द वाले दाँत के खोखले भाग में रखकर मुँह बंद कर लें और धीरे-धीरे रस चूसते रहें। फौरन राहत महसूस होगी।
Ayurvedic Solution © 2016 Frontier Theme
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.