Category: दाद, खाज, त्वचा रोग व उपचार

त्वचा रोग के उपाय ( Tvacha Ke Rog Ke Upay )

त्वचा रोग के उपाय ( Tvacha Ke Rog Ke Upay ) :

त्वचा के सर्वरोग के उपाय (Tvacha Ke Rog Ke Upay in hindi) :

  • नींबू के रस में नारियल की जटा का तेल मिलाकर शरीर पर उसकी मालिश करने से त्वचा की शुष्कता, खुजली आदि त्वचा के रोगों में लाभ होता है।
  • पुराने त्वचा के रोग में करेले के पत्तों को पीसकर उसकी मालिश करने से खूब लाभ होता है।

त्वचा पर लालिमा व जलन के उपाय ( Tvacha Par Lalima Or Jalan Ke Upay ) :

  • नीम के पत्तों का 20 से 50 मि.ली. रस पीने से शरीर की गर्मी दूर होती है।

जलने से होने वाले दाग के उपाय (Jalane Se Hone Wale Dag Ke Upay)

जलने से होने वाले दाग के उपाय (Jalane Se Hone Wale Dag Ke Upay) :

जलने से होने वाले दाग के उपाय (Jalane Se Hone Wale Dag Ke Upay in hindi ) :

  • भांगरे एवं तुलसी के पत्तों का रस (जख्म मिट जाने के बाद) लगाने से सफेद दाग नहीं पड़ते।
  • गरमी से त्वचा पर हुए चकत्तों पर त्रिफला की राख शहद में मिलाकर लगाने से राहत मिलती है।

जलने के उपाय ( Aag Me Jalane Ke Upay )

जलने के उपाय ( Aag Me Jalane Ke Upay ) :

जलने के उपाय ( Aag Me Jalane Ke Upay in hindi ) :

  • जलने पर गुवारपाठा का गूदा लगाने से बर्फ जैसी ठण्डक हो जाती है तथा घाव जल्दी भरता है।
  • हल्दी का पानी लगाने से जले हुए में आराम मिलता है।
  • नारियल के तेल में हरड़ का चूर्ण मिलाकर लगाने से घाव में लाभ होता है।
  • कच्चे आलू को पीसकर जले हुए स्थान पर लगाने से राहत मिलती है।

फोड़े एवं फुन्सी के उपाय ( Fode Or Funsi Ke Upay )

फोड़े एवं फुन्सी के उपाय ( Fode Or Funsi ke Upay ) :

फोड़े एवं फुन्सी के उपाय ( Fode Or Funsi Ke Upay in hindi ) :

  • अरण्डी के बीजों की गिरी को पीसकर उसकी पुल्टिस बाँधने से अथवा आम की गुठली या नीम या अनार के पत्तों को पानी में पीसकर लगाने से फोड़े-फुन्सी में लाभ होता है।
  • एक चुटकी कालेजीरे को मक्खन के साथ निगलने से या 1 से 3 ग्राम त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से तथा त्रिफला के पानी से घाव धोने से लाभ होता है।
  • सुहागे को पीसकर लगाने से रक्त बहना तुरंत बंद होता है तथा घाव शीघ्र भरता है।

फोड़े से मवाद बहने के उपाय ( Pus from abscesses flowing Ke Upay ) :

  • अरण्डी के तेल में आम के पत्तों की राख मिलाकर लगाने से लाभ होता है।
  • थूहर के पत्तों पर अरण्डी का तेल लगाकर गर्म करके फोड़े पर उल्टा लगायें। इससे सब मवाद निकल जायेगा। घाव को भरने के लिए दो-तीन दिन सीधा लगायें।

पीठ का फोड़ा (Pith Ke Fode or funsi Ke Upay ) : 

  • गेहूँ के आटे में नमक तथा पानी डालकर गर्म करके पुल्टिस बनाकर लगाने से फोड़ा पककर फूट जाता है।

घमौरियाँ के उपाय ( Ghamoriya Ke Upay )

घमौरियाँ के उपाय ( Ghamoriya Ke Upay ) :

घमौरियाँ के उपाय ( Ghamoriya Ke Upay ) : Ghamori ka ilaj in hindi.

  • नींबू का रस लगाने से अथवा आम की गुठली के चूर्ण को पानी में मिलाकर उसे शरीर पर लगाकर स्नान करने से घमौरियाँ मिटती हैं।
  • ग्रीष्म ऋतु में प्रायः पीठ के ऊपर घमौरियाँ (छोटी-छोटी फुन्सियाँ) हो जाती हैं। 5 ग्राम सोंफ कूटकर पानी से भरे बर्तन में डाल दें व प्रातः इसी पानी से स्नान करे व सोंफ को पानी में पीसकर लेप बनाकर पीठ पर लगाने से घमौरियाँ शीघ्र ही ठीक होती हैं।

झुर्रियों का इलाज ( Jhuriyon Ka Ilaaj )

झुर्रियों का इलाज ( Jhuriyon Ka Ilaaj ) :

झुर्रियों का इलाज ( Jhuriyon Ka Ilaaj ) : Chehre Ki Jhurriyan Ka ilaj, Jhurriyan ka gharelu upay in Hindi.

  1. अंडे के सफेद हिस्से से झुर्रियों वाले हिस्से पर मालिश करने से आप जल्दी ही इस परेशानी पर विजय प्राप्त कर लेंगे।
  2. गुलाबजल को फ्रीजर में जमाकर इसे नियमित रूप से झुर्रियों वाली जगह पर मलें। त्वचा टाइट रहेगी ।
  3. गुनगुने पानी से चेहरा अच्छी तरह धोएं फिर उसे खुरदरे तौलिए से रगड-रगड़ कर सुखा लें। आधा चम्मच दुध की ठंडी मलाई में नींबु के रस की चार पाँच बूंदें मिलाकर झुर्रियाँ तब तक मलते रहें जब तक कि मलाई घुलकर त्वचा में समा न जाए।आधा घण्टे बाद पानी से धो डालें परन्तु साबुन का प्रयोग न करें। एक माह तक नियमित इस प्रयोग से झुर्रियाँ दुर होती हैं तथा चेहरे के दाग धब्बे भी गायब हो जाते हैं।
  4. खीरे के रस या फिर खीरे के छोटे-छोटे पीस काटकर झुर्रियों वाली जगह पर लगाकर उसकी मसाज करें।
  5. हल्दी या चंदन का लेप लगाने से भी झुर्रियों में लाभ मिलता हैं।
  6. जब झुर्रियां पडती हैं तो त्‍वचा पर गहरे रंग के धब्‍बे दिखाई देने लगते हैं। इसका मतलब कि मृत कोशिकाएं चेहरे को बूढा बना रहीं हैं। इसको दूर करने के लिए चेहरे पर स्‍क्रबिंग करनी चाहिए जिससे डेड सेल्‍स हट जाएं और नई त्‍वचा सामने आ जाए। (Jhuriyon Ka Ilaaj).
  7. पके हुए पपीते का एक टुकडा काटकर चेहरे पर घिसें या मसलकर चेहरे पर लगाएं। कुछ देर बाद धो लें। ऐसा लगातार करने से चेहरे की झुर्रियाँ दूर होती हैं,व चेहरे की रंगत भी निखरती है।
  8. त्वचा की झुर्रियाँ मिटाने के लिए आधा गिलास गाजर का रस नित्य खाली पेट कम से कम 15 दिन तक लें।
  9. चेहरे की झुर्रियाँ मिटाने और युवा बनाये रखने के लिए अंकुरित चने व मूंग को सुबह शाम अवश्य ही खाएँ।
  10. सर्दियों में तेल से मसाज कर करके गरम पानी से नहाएं और नहाने के बाद क्रीम से भी मसाज करें। इससे त्‍वचा टाइट रहेगी और रुखी भी नहीं होगी।
  11. विटामिन सी और ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर आहार जैसे की मछली आदि में होते है उसका ज्यादा से ज्यादा सेवन करें इससे त्वचा जवाँ बनी रहती है।
  12. चेहरे पर कॉफी पाउडर का लेप लगाने से कॉफी पाउडर में मौजूद कैफीन की वजह से चेहरे की झुर्रियां बहुत तेजी से खत्म होती है । (Jhuriyon Ka Ilaaj).
  13. झुर्रियों के सफल उपचार के लिए पानी पीना बहुत जरूरी है, दिन में कम से 14 -15 गिलास पानी चाहिए ।
  14. सुंदर,गोरी और टाइट त्वचा के लिए सप्ताह में 1-2 बार चंदन फेस पैक लगाना चाहिए । चंदन पाउडर का पैक चेहरे पर पड़े गहरे दाग धब्बे , झाइयां और झुर्रियों को जल्दी दूर करता है।
  15. हर रात को कम से कम 7-8 घंटे की नींद लें, इससे चेहरे के डार्क सर्किल और आंखें सूजी हुई नजर नहीं आएंगी। कभी भी तकिये में मुंह छिपा कर भी नहीं सोएं क्योंकि इससे भी चेहरे पर झुर्रियां पड़ जाती हैं। (Jhuriyon Ka Ilaaj).
  16. हमारी त्वचा पर तेज धूप का बहुत कुप्रभाव पड़ता है। इसलिए धूप में निकलने से पहले त्वचा पर ऐसा सनस्क्रीन, जिसमें जिंक ऑक्साइड हो जरूर लगाएं।
  17. एलोवेरा एवं शहद एक प्राकृतिक मॉइस्चराइजर हैं। त्वचा में नमी का स्तर बढ़ाने के लिए इन्हे प्रतिदिन आजमाएं इनसे भी झुर्रियां कम होंगी। * उम्र बढ़ने के साथ-साथ हमारे शरीर में कोलाजिन बनाना बंद हो जाता है, जिससे त्वचा में लचीलापन कम हो जाता है। इस बचने के लिए नमी वाला साबुन और क्रीम का रोज़ इस्तमाल करें। नित्य विटामिन सी युक्त क्रीम प्रयोग करें और ज्यादातर समय धूप से दूर रहें।(Jhuriyon Ka ilaaj).
  18. अपनी त्वचा को झुर्रियों से बचाने के लिए हमें नियमित रूप से ताजे फलों जैसे आम, जामुन, संतरा, मौसम्मी, लीची, सेव, अंगूर, नाशपाती, पपीता, अनार और हरी सब्जियों पालक, बंदगोभी और दिन में कम से कम एक बार सलाद का सेवन करना चाहिए । इनमें ढेर सारे विटामिन्स एवं खनिज मसलन आयरन, विटामिन सी, विटामिन बी, फाइबर इत्यादि होते हैं । जो अत्यंत हीं लाभकारी होते हैं तथा हमारी त्वचा को जवान एवं खुबसूरत बनाये रखते हैं ।
  19. नियमित व्यायाम करना बहुत जरुरी है। व्यायाम करने से हमारी हर कोशिका को ओक्सिजन एवं रक्त प्राप्त होता है जिससे आपकी त्वचा जवान रहती है तथा झुर्रियां भी दूर रहती है ।
  20. पेट साफ रखने और कब्ज जैसी समस्याओं को दूर कर भी आप चेहरे पर झुर्रियां पड़ने से रोक सकते हैं।
  21. तनाव से यथासंभव बचे । तनाव से हमारे शरीर में एक रसायन कोरटीसोल का स्राव होता है जो हमारी त्वचा को नुकसान पहुंचाता है जिससे झुर्रियां शीघ्र पड़ती है। (Jhuriyon Ka ilaaj).
  22. गुस्सा करने से बचे । गुस्सा करने अथवा तरह तरह से मुंह बनाने से भी चेहरे पर उम्र के पहले हीं झुर्रियां पड़ जाती हैं।
  23. सिगरेट और शराब दोनों की ही वजह से झुर्रियों बहुत तेजी से पड़ती है । स्मोकिंग से हमारे होठों का रंग काला पड़ जाता है और चेहरे की त्वचा का कोलाजिन भी नष्ट होता है, जिससे चेहरे पर तेजी से झुर्रियां पड़ने लगती हैं।

सफ़ेद दाग को दूर करने के उपाय ( Safed Daag Ko Dur Krne Ke Upay )

सफ़ेद दाग को दूर करने के उपाय ( Safed Daag Ko Dur Krne Ke Upay ) :

सफ़ेद दाग को दूर करने के उपाय ( Safed Daag Ko Dur Krne Ke Upay ) :

सफेद दाग को कई नामों से जाना जाता हैं जैसे सफेद दाग, कोढ़, श्वेतकुष्ठ, LeucoDerma, Achromia, Vitiligo. यह एक संक्रामक रोग है जो एक जीवाणु माइक्रोबैक्टीरियम लेप्री के द्वारा होता हैं। इस रोग के कुछ कारण Autoimmune link, Hormonal cause, Genetic tendency और लम्बे समय तक दवाइयाँ लेने से हो सकता हैं। यह वंशानुगत रोग नहीं हैं। यह किसी को भी और कभी भी हो सकता हैं। यह रोग रोगी के साथ लम्बे समय तक सम्पर्क में रहने से फेल सकता हैं। कुष्ठ त्वचा से सम्बन्धित रोग हैं। सामन्यता इस बीमारी की शुरुवात एक सफेद धब्बे से होती हैं, और यह धीरे धीरे बड़ा होता है और अनेक सफेद धब्बे हो जाते है। यह रोग धीरे धीरे फैलता जाता हैं। इस रोग में सफेद दाग शरीर में कही पर भी हो सकते हैं। कुष्ठ रोग का इलाज संभव हैं। आज हम आपको सफेद दाग को दूर करने के कुछ घरेलु उपाय Safed Daag ko dur krne ke Upay, Kusth rog ke lakshan, Kusth rog ka karan, Kodh Ke Upay और Safed Daag ka gharelu ilaj or Treatment के बारे में बताते हैं जिनसे इस रोग को कुछ काम किया जा सकता हैं –

Safed Daag Ko Dur Krne Ke Upay

सफ़ेद दाग को दूर करने के उपाय ( Safed Daag Ko Dur Krne Ke Upay ) :

  1. विरोधी भोजन लेने से। दूध व मछली साथ-साथ न लें।
  2. शरीर का विषैला तत्व (Toxic) बाहर निकलने से न रोकें जैसे- मल, मूत्र, पसीने पर डीयो न लगायें।
  3. मिठाई, रबडी, दूध व दही का एक साथ सेवन न करें।
  4. गरिष्ठ भोजन न करें जैसे उडद की दाल, मांस व मछली।
  5. भोजन में खटाई, तेल मिर्च,गुड का सेवन नकरें।
  6. अधिक नमक का प्रयोग न करें।
  7. ये रोग कई बार वंशानुगत भी होता है।
  8. बावची के तेल की मालिश करें। फोड़ा होने पर लगाना बंद कर दें। फोड़े पर मिट्टी या गोबर का लेप करें। सात दिन बाद पुनः बावची का तेल लगायें।
  9. 50 से 200 मि.ली गोमूत्र में 1 से 3 ग्राम हल्दी मिलाकर पीने से या तुलसी का रस लगाने व 5 से 20 मि.ली. पीने से सफेद दाग मिटते हैं।
  10. पीपल की छाल का दो ग्राम चूर्ण दिन में तीन बार छः महीने तक लेने से एवं केले के पत्तों की राख तथा उसके बराबर हल्दी लेकर दोनों को पानी में पीसकर उसका लेप करने से सफेद कोढ़ मिटता है।
  11. सफेद कोढ़ में वमन कराने से लाभ होता है। Safed Daag Ko Dur Krne Ke Upay.
  12. चने को पानी में भिगोकर या उबालकर जब इच्छा हो तब खायें। जिस पानी में चने भिगोयें उसी पानी को पियें। चने में नमक न डालें। 3 से 6 महीने तक यह प्रयोग करने से हर प्रकार के कुष्ठ में लाभ होता है। इस प्रयोग के दौरान चने के अतिरिक्त कुछ न खायें।
  13. काकोटुम्बर नामक बूटी जहाँ-तहाँ होती है। उसका दूध लगायें और उसकी छाल का काढ़ा बनाकर पियें। उस दाग पर लोहे की शलाका से घिसें। जलन होने पर घिसना बन्द कर दें। त्रिफला चूर्ण का रोज सेवन करें। दूध, फल, मिठाई, खटाई और लाल मिर्च बंद कर दें।
  14. दूध के साथ तुलसी, प्याज, मछली या खटाई खाने से कोढ़ निकलता है अतः इस प्रकार के भोजन से सावधान रहें।

सफ़ेद दाग को दूर करने के उपाय ( Safed Daag Ko Dur Krne Ke Upay in Hindi ) :

  1. रोज बथुआ की सब्जी खायें, बथुआ उबाल कर उसके पानी से सफेद दाग को धोयें कच्चे बथुआ का रस दो कप निकाल कर आधा कप तिल का तेल मिलाकर धीमी आंच पर पकायें जब सिर्फ तेल रह जाये तब उतार कर शीशी में भर लें। इसे लगातार लगाते रहें । ठीक होगा धैर्य की जरूरत है।
  2. अखरोट खूब खायें। इसके खाने से शरीर के विषैले तत्वों का नाश होता है। अखरोट का पेड़ अपने आसपास की जमीन को काली कर देती है ये तो त्वचा है। अखरोट खाते रहिये लाभ होगा।
  3. रिजका (Alfalfa) सौ ग्राम, रिजका सौ ग्रा ककडी का रस मिलाकर पियें दाद ठीक होगा।
  4. लहसुन के रस में हरड घिसकर लेप करें तथा लहसुन का सेवन भी करते रहने से दाग मिट जाता है।
  5. छाछ रोजना दो बार पियें सफेद दाग ठीक हो सकता है। Safed Daag Ko Dur Krne Ke Upay.
  6. लहसुन के रस में हरड को घिसकर कर लेप करें साथ साथ सेवन भी करें।
  7. पानी में भीगी हुई उडद की दाल पीसकर सफेद दाग पर चार माह तक लगाने से दाद ठीक हो जायेगा।
  8. हल्दी एक औषधि है। इससे त्वचा रोग में फायदा होता है। सौ ग्राम हल्दी, चार सौ ग्राम स्पिरिट (स्प्रिट) लेकर मिलायें और खाली शीशी में भर कर रख दें धूप में दिन में कम से कम तीन बार हिलायें जोर-जोर से। ये टिंचर का का करेगा दिन में तीन बार शरीर पर लगायें। हल्दी गर्म दूध में डालकर पियें छः महीने कम से कम।
  9. तुलसी का तेल बनायें, जड़ सहित एक हरा भरा तुलसी का पौधा लायें, धोकर कूटपीस लें रस निकाल लें। आधा लीटर पानी आधा किलो सरसों का तेल डाल कर पकायें हल्की आंच पर सिर्फ तेल बच जाने पर छानकर शीशी में भर लें। ये तेल बन गया अब इसे सफेद दाग पर लगायें। Safed Daag Ko Dur Krne Ke Upay.
  10. नीम की पत्ती, फूल, निंबोली, सुखाकर पीस लें प्रतिदिन फंकी लें।
    सफेद दाग के लिये नीम एक वरदान है। कुष्ठ जैसे रोग का इलाज नीम से सर्व सुलभ है। कोई बी सफेद दाग वाला व्यक्ति नीम तले जितना रहेगा उतना ही फायदा होगा नीम खायें, नीम लगायें ,नीम के नीचे सोये ,नीम को बिछाकर सोयें, पत्ते सूखने पर बदल दें। पत्ते,फल निम्बोली,छाल किसी का भी रस लगायें वएक च. पियेंभी।जरूर फायदा होगा कारण नीम खु में एक एंटीबायोटिक है।ये अपने आसपास का वातावरण स्वच्छ रखता है। इसकी पत्तियों को जलाकर पीस कर उसकी राख इसी नीम के तेल में मिलाकर घाव पर लेप करते रहें। नीम की पत्ती, निम्बोली ,फूल पीसकर चालीस दिन तततक शरबत पियें तो सफेद दाग से मुक्ति मिल जायेगी। नीम की गोंद को नीम के ही रस में पीस कर मिलाकर पियें तो गलने वाला कुष्ठ रोग भी ठीक हो सकता है। Safed Daag Ko Dur Krne Ke Upay.
  11. एक मुट्ठी काले चने, १२५ मिली पानी में डाल दे सुबह ८-९ बजे डाल दे…. उसमे १० गरम त्रिफला चूर्ण डाल दे, २४ घंटे वो पड़ा रहे …ढक के रह दे … २४ घंटे बाद वो छाने जितना खा सके चबाकर के खाये…. सफ़ेद दाग जल्दी मिटेंगें और होमियोपैथीक दवा लें, सफ़ेद दाग होमियोपैथी से जल्दी मिटते है।
Ayurvedic Solution © 2016 Frontier Theme
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.