Category: राशि अनुसार उपाय और मंत्र

वृषभ राशिफल 2017 ( Vrishabha Rashifal 2017 )

वृषभ राशिफल 2017 ( Vrishabha Rashifal 2017 ) :

वृषभ राशि वाले व्यक्तियों के नाम ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो से शुरू होते हैं। Vrishabha Rashifal 2017 के अनुसार यह वर्ष आपके लिए आर्थिक रूप से सही रहेगा। आपको संतान की तरफ से कोई शुभ समाचार मिलेगा। शनि के आठवे भाव में गोचर करने से आपके कुछ कार्य देरी से होंगे पर लगातार कार्य और प्रयास करने से आपको सफलता मिलेगी। इस वर्ष की दूसरी तिमाही आपको व्यापार में उन्नति प्रदान करेगी।

शारीरिक स्वास्थ्य ( Vrishabha Rashifal 2017 ke anusar Health ) :

Vrishabha Rashifal 2017 के अनुसार वर्ष के अंतिम तिमाही में शनि का 8 वे भाव में प्रवेश करना भी आपके लिए अच्छा नही रहेगा। इसलिए वर्ष के अंतिम समय में स्वास्थ्य के प्रति आपको ध्यान देना होगा। आप व्यायाम और योग करे और नींद पूरी करे। जिससे आपका स्वास्थ्य सही रहेगा पेट संबंधी बिमारियों से बच कर रहे।

प्रेम संबंध ( Vrishabha Rashifal 2017 Marriage Life ) :

Vrishabha Rashifal 2017 के अनुसार इस वर्ष आपका वैवाहिक जीवन बहुत अच्छा रहेंगा। इस वर्ष की अंतिम तिमाही में कुछ वैवाहिक जीवन में अनबन या वाद-विवाद हो सकता है। इसलिए इससे बच कर रहे इस साल की अंतिम तिमाही में आपके वैवाहिक जीवन की कोई पुराणी अनबन सही होगी। आपको अपने जीवन साथी के साथ अच्छा समय मिलेगा। इस अंतिम तिमाही में ही आपको संतान सुख मिलने के संकेत मिल रहे हैं आप अपने जीवन साथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखे।

शिक्षा और रोजगार ( Vrishabha Rashifal 2017 Education aur Business ) :

Vrishabha Rashifal 2017 के अनुसार इस वर्ष आप शिक्षा संबंधी सभी कार्यो में सफलता प्राप्त करेगे। ज्ञान के कारक गुरु पंचम भाव में होने के कारण आपको शिक्षा के क्षेत्र में उन्नति मिलेगी। गुरु की पंचम भाव से नवम भाव में दृष्टी होने के कारण उच्च स्तर की पढाई करने वालो के लिए बहुत ही शुभ संकेत हैं। इस वर्ष की अंतिम तिमाही में शिक्षा के अनुकूल परिणाम नही मिलेंगे इसलिए इस समय आपको पढाई पर ध्यान लगाने की सलाह देते हैं। व्यापार के क्षेत्र में इस साल आपकी राशि का स्वामी शुक्र आपको फायदा पहुचायेगा। आपको पहली और दूसरी तिमाही में व्यापार में उन्नति मिलेगी आपका कार्य अच्छे से चलेगा इस वर्ष की अंतिम तिमाही में आपको अपनी मेहनत के अनुरूप लाभ काम मिलने की सम्भावना हैं। आपको आत्म विश्वास के साथ मेहनत करने की आवश्यकता हैं।

उपाय ( Vrishabha Rashifal 2017 anusar Upay ) :

  • शुक्रवार के दिन धार्मिक स्थान पर खीर बांटे।
  • लक्ष्मी जी की चालीसा व आरती नियमित पढ़े।
  • साधु, सन्यासियों एवं गरीब बच्चों को भोजन कराएँ।
  • छोटी कन्याओं में शुक्रवार को सफेद मिठाई बाटें।
  • सफेद वस्त्रों, इत्र, सफेद चंदन व सुगन्धित पदार्थों का अधिकाधिक प्रयोग करे।

मेष राशिफल 2017 ( Mesh Rashifal 2017 )

मेष राशिफल 2017 ( Mesh Rashifal 2017 ) :

मेष राशि वाले व्यक्तियों के नाम चू, चे, चो, ला, ली, ले, लो, आ से शुरू होते हैं। Mesh Rashifal 2017 के अनुसार आपका यह साल सामान्य रहेगा। परन्तु 2016 से अच्छा रहेगा। वर्ष 2017 शुरू में आपके लिए ज्यादा अच्छा नही रहे लेकिन वर्ष के अन्त में आपको बहुत अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे साल की अंतिम तिमाही में गुरु ग्रह के गोचर से आपके जीवन में अच्छे परिणाम मिलेंगे, साथ ही इस साल के शुरू में शनि की अष्टम ढैय्या आपको परेशान कर सकती हैं, जिससे आपको कार्य में असमंजस और धन का व्यय हो सकता हैं। आपकी कठिन मेहनत और परिश्रम वर्ष के दूसरे भाग में आपको सफलता दिलाएगी।

शारीरिक स्वास्थ्य ( Mesh Rashifal 2017 ke anusar Health ) :

Mesh Rashifal 2017 के अनुसार स्वास्थ्य के मामले में आपको मिला झूला असर देखने को मिलेगा। शनि की दुष्टि होने के कारण मुंख से नीचे और सीने से ऊपर चोट लगाने के आसार बनते हैं।राहु की स्थिति के कारण मानसिक परेशानी व पेट सम्बन्धी परेशानी का सामना करना पद सकता हैं। आपके राशि के स्वामी मंगल की स्थिति जुलाई व् अगस्त में कमजोर होने के कारण परेशानी हो सकती हैं। आप अपने खाने-पीने का ध्यान रखे और क्रोध करने से बचे रहे साथ ही आप शारीरिक शक्ति की बजाय अपनी मानसिक शक्ति का प्रयोग करे।

प्रेम संबंध ( Mesh Rashifal 2017 Marriage Life ) :

Mesh Rashifal 2017 के अनुसार यह साल शादी शुदा लोगो के लिए अच्छा रहेगा मेष राशि के प्रेम भाव का स्वामी शुक्र होने के कारण आपके वैवाहिक जीवन में चली आ रही समस्या का समाधान होगा। आपको अपने जीवन साथी का पूरा सहयोग प्राप्त होगा अपनी भावनाओ को अपने रिश्ते के ऊपर हावी नही होने दे।  क्योंकि इससे कठिनाई का सामना करना पड़ सकता हैं। जो व्यक्ति अपने प्रेम की तलाश में है उनकी खोज साल के अन्त तक पूरी हो जाएगी।

शिक्षा और रोजगार ( Mesh Rashifal 2017 Education aur Business ) :

Mesh Rashifal 2017 के अनुसार यह साल साल के अंतिम तिमाही में गुरु व राहू के गोचर में परिवर्तन करने के बाद आपकी पढाई में बहुत अच्छे संकेत मिलेंगे। प्रतियोगी परीक्षा में भाग लेने वाले जातको के लिए साल की अंतिम तिमाही में सफलता मिल सकती हैं, इसलिए कठिन परिश्रम करते रहे बिजनेस करने वाले जातको के लिए भी साल की अंतिम तिमाही बहुत अच्छी रह सकती हैं।

उपाय ( Mesh Rashifal 2017 anusar Upay ) :

  • आपके लिए शनि, हनुमान व शिवजी की आराधना करना विशेष लाभकारी रहेगा।
  • सूर्य को नियमित जल दें।
  • मंगल व शनिवार के दिन हनुमान जी को गुड़-चने का भोग लगाएँ व उनकी चालीसा तथा आरती पढ़ें।
  • गरीब लोगों की मदद करें।
  • शनिवार को सुन्दरकाण्ड का पाठ करें।

गणेश चतुर्थी पर उपाय ( Ganesh Chaturthi Par Rashi Anusar Upay )

गणेश चतुर्थी पर उपाय ( Ganesh Chaturthi Par Rashi Anusar Upay ) :

श्री गणेश चतुर्थी तिथि को गणेशजी को प्रसन्न करने के लिए राशि अनुसार कीजिये कुछ साधारण उपाय (Ganesh Chaturthi Par Rashi Anusar Upay) : Shri Ganesh Chaturthi Par Rashi Anusar Upay in Hindi.

  • मेष राशि :

मेष राशि वाले लोग इस दिन सिंदूरी रंग के गणेशजी की आराधना करें। 11 दूर्वा हल्दी के जल में डालकर चढ़ाएं “ऊं गं गणपतये नम:” को दूर्वा से 108 बार भोजपत्र पर लिखे। ऐसी गणेश उपासना से समस्त विघ्न संकट का निवारण होता है और धन-धान्य की प्राप्ति होती है।

  • वृषभ राशि :

वृषभ राशि वाले लोग इस दिन दूधिया रंग के श्रीगणेशजी की आराधना करें। श्रीगणेश को सफेद फूल पर इत्र लगाकर नौ दूर्वा के साथ सफेद लड्डू का भोग लगाएं। पूजा करते समय “ऊँ गं ऊँ गं” मंत्र का जप करें। इस प्रकार श्रीगणेश का पूजन करने पर वृषभ राशि वाले लोगों को सभी कार्य में सफलता व सिद्धि प्राप्त हो सकती है।

  • मिथुन राशि :

मिथुन राशि वाले लोगों के लिए हरी गणेश प्रतिमा की पूजा करना शुभ होता है. श्रीगणेश की कृपा प्राप्त करने के लिए दूर्वा की माला बनाकर “ऊं श्री गं गणाधिपतये नम: “108 बार उच्चारण करके चढ़ाना चाहिए. श्रीगणेश को गुड़ का विशेष नैवैद्य अर्पण करना चाहिए।

  • कर्क राशि

कर्क राशि वाले लोगों के लिए सफेद रंग के गणेशजी की आराधना करना श्रेष्ठ रहता है। श्रीगणेश को प्रसन्न करने के लिए सफेद आंकड़े के पुष्प की माला बनाकर साथ में दूर्वा की जड़ बांधकर अर्पित करें। “ऊं श्री श्वेतार्क देवाय नम:” का जाप कम से कम 108 बार करें। मोदक के नैवेद्य पर थोड़ा सा मक्खन चढ़ाएं। इस प्रकार भगवान गणेश की पूजा करने से समस्त मनोकामना पूर्ण होती है।

  • सिंह राशि :

सिंह राशि वाले लोगों के लिए मेहरून रंग की श्रीगणेश प्रतिमा की आराधना करना ज्यादा सफलता कारक माना गया है। सिंह राशि के लोग श्रीगणेश की विधि-विधान से पूजन करें। श्रीगणेश पर 108 दूर्वा कुंकुम में कर के चढ़ाएं। गुड़ की 11 गोली बनाकर गणेशजी को नित्य अर्पण करें जिससे चहुंमुखी विकास होगा। (Ganesh Chaturthi Par Rashi Anusar Upay).

  • कन्या राशि :

कन्या राशि वाले लोगों को इस दिन गहरे हरे रंग के श्री गणेशजी की आराधना करना श्रेष्ठ रहता है। हरे मूंग 108 संख्या में श्री गणेशजी की प्रतिमा पर चढ़ाएं। भगवान गणेश के मंदिर में हरे मूंग व गुड़ का दान करें। “श्री वक्रतुंडाय नम:” मंत्र का 108 बार जाप करें। इस तरह श्रीगणेश का पूजन करने से आपको सभी कार्यों में सफलता प्राप्त होगी।

  • तुला राशि :

तुला राशि वाले लोगों को इस दिन सफेद मिश्रित रंग के श्री गणेशजी की आराधना करना सर्वोत्तम होता है। सवाया लड्डू का भोग श्रीगणेश को लगाएं। दूर्वा व पुष्प भी सवा सौ ग्राम या सवा किलो चढाएं जिससे समस्त संकट का निवारण होकर इच्छित मनोकामना परिपूर्ण होती है। श्रीगणेश स्त्रोत का पाठ करना भी श्रेष्ठ होता है।

  • वृश्चिक राशि :

श्री गणेश चतुर्थी के दिन वृश्चिक राशि वाले जातकों को लाल मिश्रित श्रीगणेशजी की आराधना करना सबसे अच्छा होता है। श्रीगणेशजी पर लाल रंग से रंगे चावल अर्पण करें। इस बात का विशेष ध्यान रखें कि चावलों की संख्या 108 से कम अथवा ज्यादा न हो। श्री विघ्नहरण संकट हरणायनम: का जाप करें, जिससे समस्त मनोकामना परिपूर्ण हो सके।

  • धनु राशि :

धनु राशि वाले लोगों को इस दिन पीले रंग की गणेशजी की आराधना करना चाहिए। हल्दी की पांच गठान श्री गणाधिपतये नम: का उच्चारण कर चढ़ाएं। 108 दूर्वा पर गीली हल्दी लगाकर “श्री गजवकत्रम नमो नम:” का जाप करके चढ़ाएं। इस प्रकार पूजन करने पर भगवान श्रीगणेश सभी कामनाएं पूरी करते हैं। (Ganesh Chaturthi Par Rashi Anusar Upay).

  • मकर राशि :

मकर राशि वाले लोगों को नीले रंग के श्रीगणेशजी की आराधना करना सर्वोत्तम होता है। भगवान श्रीगणेश को काले तिल अर्पण करें। दूर्वा व लाल रंग के फूल पर इत्र लगाकर “श्री गणेशाय नम:” का जप करके श्री गणेशजी को अर्पण करें। जिससे समस्त विघ्न का निवारण हो सके। गणपति अर्थवशीर्ष का पाठ करें।

  • कुंभ राशि :

कुंभ राशि वाले लोगों को इस दिन आसमानी रंग की गणेश प्रतिमा की आराधना करनी चाहिए। श्रीगणेश को सिंदूर का तिलक लगाएं व उनके मस्तक के मध्य में हल्दी का तिलक लगाएं। हाथी को मोदक या गुड़ रोटी खिलाएं व 108 दूर्वा चढ़ाएं व “ऊँ गं गणपतयै नम:” का जप करें। (Ganesh Chaturthi Par Rashi Anusar Upay).

  • मीन राशि :

मीन राशि वाले लोगों को हल्दी रंग के श्री गणेशजी की आराधना करना चाहिए। हल्दी की जड़ पर आठ बार “ऊं गं गं गं गं गं श्री गजाय नम:” लिखकर भगवान श्री गणेशजी के मस्तक पर अर्पण करें। पीले रंग के धागे में पीले पुष्प व दूर्वा की माला बनाकर श्री गणेशजी को अर्पण करें।

राशि के अनुसार नीलम रत्न ( Rashi Ke Anusar Neelam Ratna )

राशि के अनुसार नीलम रत्न ( Rashi Ke Anusar Neelam Ratna ) :

राशि के अनुसार नीलम रत्न ( Rashi Ke Anusar Neelam Ratna ) : Apne Rashi Ke Anusar Neelam Ratna ke Labh in Hindi.

  • मेष राशि :- इस राशि के लोग शनि की दशा में नीलम रत्न धारण कर सकते है। इस राशि के लिए शनि लाभदायक हो सकता है. अपनी दशा में.. इसका रत्न धारण करने से लाभ में वृद्धि होगी। राज्य से सम्बंधित लोगो से मेलजोल लाभकारी सिद्ध होगा. भवन तथा जमीन का लाभ देगा। वायु सम्बंधित रोगों से बचायेगा.टांगो को बल देगा।
  • वृष राशि :- इस राशि वालो को शनि रत्न नीलम शुभ फलदायक होगा.यह रत्न धारण करने से धन मान और भाग्य की वृद्धि होगी.छोटे भाई की आयु में वृद्धि करेगा. पिता की आयु और स्वास्थ्य में वृद्धि करेगा. आपके स्नायुओं को मजबूत करेगा. राज्य से कृपा प्रदान होगी. उच्चाधिकारियों से लाभ प्रदान करवाएगा. इस राशि वाले इसे हीरा के साथ भी धारण कर सकते है अति लाभदायक सिद्ध होगा।
  • मिथुन राशि :- इस राशि के लोग भी नीलम रत्न धारण कर सकते है. वो भी शनि की दशा में.. धन और भाग्य में वृद्धि करेगा. तथा धर्म में रूचि उत्पन्न करेगा।
  • कर्क राशि :- इस राशि वालो के लिए शनि अशुभ ग्रह है. इसका रत्न कदापि धारण नहीं करना चाहिए. आयु को क्षीण करेगा. धन के क्षेत्र में कष्ट तथा हानि देगा. साझेदारी के कार्यों में दुखदायी होगा.पति पत्नी में अलगाव पैदा करेगा. पति या पत्नी के लिए कष्टकारी भी सिद्ध होगा। (Rashi Ke Anusar Neelam Ratna).
  • सिंह राशि :- इस राशि के लोगो को नीलम रत्न नहीं धारण करना चाहिए. क्योंकि इस धारण करने से शत्रु सिर उठाएँगे. धन की कमी रहेगी. पति या पत्नी की आयु के लिए कष्टकारी होगा. पेट तथा अंतड़ियों से सम्बंधित रोग उत्पन्न होंगे।
  • कन्या राशि :- इस राशि वालो को नीलम रत्न धारण करने के लिए ज्योतिषी से परामर्श लेना अति आवश्यक है. यदि नीलम रत्न धारण करेंगे तो स्वास्थ्य की हानि करेगा. और बच्चो से वैमनस्यता रहेगी.शत्रु हावी होने लगते है. पेट से सम्बंधित रोग देगा।
  • तुला राशि :- इस राशि वालो के लिए शनि राजयोगकारक है. नीलम रत्न धारण करने से धन, पदवी,सुख सभी में वृद्धि करेगा. निम्न स्तर के लोगो से प्यार प्राप्त होगा. आयु तथा स्वास्थ्य में वृद्धि करेगा. माता को धनादि की प्राप्ति होगी. और पिता का स्वास्थ्य व धन ठीक रखेगा।
  • वृश्चिक राशि :- इस राशि के लोग शनि की दशा में परामर्श के द्वारा नीलम रत्न धारण कर सकते है. परन्तु नीलम धन की विशेष वृद्धि नहीं करेगा. लेकिन भूमि में वृद्धि होगी. मित्रों से लाभ हो सकता है. छोटी बहनों और भाइयों को सुख तथा धन प्राप्त हो सकता है। (Rashi Ke Anusar Neelam Ratna).
  • धनु राशि :- इस राशि के लोगो को नीलम रत्न धारण करना शुभकर नहीं होगा. बहन-भाइयों की आयु को क्षीण करेगा. तथा शत्रु अधिक पैदा होंगे।
  • मकर राशि :- इस राशि के लोगो के लिए नीलम रत्न धारण करना अत्यंत शुभ होगा.इनके स्वास्थ्य, धन, आयु, विद्या में वृद्धि करेगा. वाणी में सुधार होगा. टांगो के रोगों का शमन होगा. वायु से उत्पन्न रोगों को दूर करेगा।
  • कुम्भ राशि :- इस राशि के लोग नीलम धारण कर लाभ उठा सकते है. धन में वृद्धि करेगा. आंखों के दोषों का शमन करेगा. व्यय को कम करेगा. स्नायुओं को बल देगा. टांगो तथा पांवों को भी बल देगा. पुत्र की आयु में वृद्धि करेगा. पुत्र का भाग्य बढ़ाएगा। (Rashi Ke Anusar Neelam Ratna).
  • मीन राशि :- इस राशि के लोगो को नीलम रत्न नहीं धारण करना चाहिए. आंखों के रोगों को बढ़ाएगा. धन लाभ में कठिनाइयां उत्पन्न करेगा. स्वास्थ्य में भी हानि करेगा।

राशि के अनुसार हीरा रत्न ( Rashi Ke Anusar Heera Ratna )

राशि के अनुसार हीरा रत्न ( Rashi Ke Anusar Heera Ratna ) :

राशि के अनुसार हीरा रत्न ( Rashi Ke Anusar Heera Ratna ) : Apni Rashi Ke Anusar Heera Ratna ke Labh in Hindi.

  • मेष राशि :- इस राशि के व्यक्तिओं को हीरा कभी भी धारण नहीं करना चाहिए. क्योंकि इसे धारण करने से धन तथा साझेदारी के कार्यों में कष्टकारी तथा आयु की कमी होगी. पति – पत्नी में अलगाव पैदा करेगा तथा वाणी में विकार पैदा करेगा, व्यभिचारी बनायेगा।
  • वृष राशि :- इस राशि वाले व्यक्ति को हीरा रत्न शुभकारी सिद्ध होगा. स्वास्थ्य की वृद्धि करेगा. आयु वृद्धि के लिए शुभ होगा. स्त्री या पति के स्वास्थ्य में सुधार होगा. ऋण को कम करने में सहायक होगा शत्रु बाधा कम होगी भोग विलास की सामग्री देगा. आंखों की बीमारीओं का शमन करेगा।
  • मिथुन राशि :- इस राशि के लोगो को हीरा रत्न धारण करने से धन और भाग्य की वृद्धि होगी. बुद्धि में वृद्धि करेगा. भोग विलास, रति की प्राप्ति, पुत्र की वृद्धि करेगा. स्वास्थ्य में सुधार करेगा समृद्धिदायक साबित होगा।
  • कर्क राशि :- इस राशि के लीगी को हीरा रत्न धारण नहीं करना चाहिए. इसे धारण करने से माता तथा पिता की आयु व स्वास्थ्य को क्षीण करेगा. खून से सम्बंधित रोग पैदा करेगा. पत्नी या पति से वैमनस्यता बढ़ाएगा अपयश देगा।
  • सिंह राशि :- इस राशि के लोगो को हीरा रत्न नहीं धारण करना चाहिए. इसे धारण करने से राज्य से सम्बंधित लोगो से अपमानित होना पड़ सकता है. बहनों के लिए कष्टकारी हो सकता है. स्त्रियों से वैमनस्यता बढ़ाएगा. स्वास्थ्य हानि करेगा। (Rashi Ke Anusar Heera Ratna ke labh).
  • कन्या राशि :- इस राशि के लोगो को हीरा रत्न धारण करने से भाग्य में वृद्धि होगी. राज्य कृपा प्राप्त होगी. धन की विशेष वृद्धि देगा. गायन शक्ति में वृद्धि होगी. रोगों का शमन करेगा. विद्या में उन्नति प्राप्त होगी।
  • तुला राशि :- इस राशि के लोगो के लिए हीरा रत्न अत्यंत कल्याणकारी सिद्ध होगा. आयु व स्वास्थ्य के लए अति शुभ होगा. धन सुख समृद्धि देगा. तथा बड़े लोगो से मित्रता प्राप्त होगी. मन में प्रसन्नता देगा.व्यक्तित्व में निखार लाएगा.
  • वृश्चिक राशि :- इस राशि के लोगो को हीरा रत्न कदापि धारण नहीं करना चाहिए. क्योंकि पत्नी को शारीरिक कष्ट प्रदान करेगा. गुर्दे सम्बन्धी रोग प्रदान करेगा. व्यापार में घाटा तथा साझेदार से अनबन तथा क्लेश उत्पन्न होने की संभावना बड़ेगी।
  • धनु राशि :- इस राशि के लोगो को शुक्र की दशा में हीरा रत्न धारण करने के लिए किसी विद्वान ज्योतिषी से परामर्श करना चाहिए. (Rashi Ke Anusar Heera Ratna ke labh).
  • मकर राशि :- इस राशि के लोगो के लिए हीरा रत्न धारण करना राज योग कारक है. शुक्र सुख शान्ति में वृद्धि करेगा.पदोन्नति तथा धन लाभ दिलाएगा.माँ प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी. रति विलास में रूचि करेगा. पिता के धन की वृद्धि करेगा. यदि हीरा नीलम के साथ धारण करे तो अति उत्तम फ; की प्राप्ति होगी।
  • कुम्भ राशि :- इस राशि वालो के लिए हीरा रत्न शुभ योग कारक होगा. धन तथा लक्ष्मी देगा. भाग्य में वृद्धि करेगा. वाहनादि का विशेष सुख देगा. माता की आयु और धन देगा. पिता को सुख और धन व स्वास्थ्य प्रदान करेगा. अचानक धन की प्राप्ति के योग बनेंगे. राज्य की ओर से सहायता को बढ़ाएगा। (Rashi Ke Anusar Heera Ratna)
  • मीन राशि :- इस राशि के लोगो को हीरा रत्न कभी भी धारण नहीं करना चाहिए. स्वास्थ्य में हानि करेगा. शरीर में बीमारियाँ उत्पन्न होंगी. बहन के स्वास्थ्य को खराब करेगा या संबंध में खटास उत्पन्न होगी।

राशि के अनुसार माणिक्य रत्न ( Rashi Ke Anusar Manikya Ratna )

राशि के अनुसार माणिक्य रत्न ( Rashi Ke Anusar Manikya Ratna ) :

राशि के अनुसार माणिक्य रत्न ( Rashi Ke Anusar Manikya Ratna ) : Apni Rashi Ke Anusar Manikya Ratna ke Labh in Hindi.

  • मेष राशि :- मेष राशि मंगल की राशि है. मेष राशि का व्यक्ति बुद्धि बल प्राप्त करनेआत्मोन्नति, सन्तान सुख, प्रसिद्धि, राज्य कृपा के लिए माणिक्य धारण कर सकता है. सूर्य की महादशा में माणिक्य श्रेष्ठ फलदायक होता है।
  • वृष राशि :- इस राशि के व्यक्ति को माणिक्य नहीं धारण करना चाहिए. क्योंकि यह रत्न वृष राशि के व्यक्ति के लिए सूर्य की महादशा, अंतर्दशा आदि गोचर में अशुभ फल देगा।
  • मिथुन राशि :- मिथुन राशि के व्यक्ति को माणिक्य रत्न सिर्फ सूर्य की दशा में ही धारण करना चाहिए वैसे कभी भी धारण नहीं करना चाहिए।
  • कर्क राशि :- इस राशि के व्यक्ति को माणिक्य रत्न धारण करना चाहिए. यह धन के अभाव को दूर करने में सहायक होगा. तथा आंखों के कष्ट में भी लाभकारी होगा।
  • सिंह राशि :- इस राशि के व्यक्ति को माणिक्य अवश्य धारण करना चाहिए. शुभ फलदायक होगा. इस राशि वाले को जीवन भर माणिक्य लाभ ही लाभ प्रदान करेगा. इसे धारण करने से शत्रुओ पर विजय भी मिलती है. व मानसिक संतुलन बना रहता है. शारीरिक स्वास्थ तथा आत्मबल मिलता है।
  • कन्या राशि :- उस राशि वालो को माणिक्य सदैव हानिकारक व कष्टकारी होगा. भयंकर दुर्घटना व नेत्र विकार से पीड़ित होने की संभावना बनी रहेगी। (Rashi Ke Anusar Manikya Ratna).
  • तुला राशि :- इस राशि वाले को केवल सूर्य की दशा में ही माणिक्य धारण करना चाहिए, जो कि लाभ के लिए शुभ होगा।
  • वृश्चिक राशि :- इस राशि के व्यक्ति को माणिक्य धारण करना चाहिए क्योंकि यह राशि मंगल की है अत: धारण करने से राज्य कृपा, प्रतिष्ठा, नौकरी में सफलता प्राप्त होगी।
  • धनु राशि :- इस राशि वाले को माणिक्य धारण करना शुभ होगा यह भाग्य की वृद्धि में सहायक होगा।
  • मकर राशि :- इस राशि वाले को भूल कर भी मानिक्या नहीं धारण करना चाहिए. क्योंकि यह उसे शारीरिक कष्ट, रोग दुर्घटना आदि परेशानी दे सकता है। (Rashi Ke Anusar Manikya Ratna).
  • कुम्भ राशि :- ऐसे व्यक्ति को माणिक्य पहनना तो क्या इससे दूर दूर रहना चाहिए. वरना भारी हानि करेगा. पति या पत्नी दोनों के लिए हानिकारक रहेगा।
  • मीन राशि :- इस राशि के व्यक्ति माणिक्य अपनी दशा सूर्य की दशा में धारण कर सकते है. जो रोगों से छुटकारा दिलवाने में सहायक सिद्ध होगा।

राशि के अनुसार पुखराज रत्न ( Rashi Ke Anusar Pukhraj Ratna )

राशि के अनुसार पुखराज रत्न ( Rashi Ke Anusar Pukhraj Ratna ) :

राशि के अनुसार पुखराज रत्न ( Rashi Ke Anusar Pukhraj Ratna ) : Apni Rashi Ke Anusar Pukhraj Ratna ke Labh in Hindi.

  • मेष राशि :- इस राशि के व्यक्ति को पुखराज रत्न धारण करना अति शुभ होगा. पुखराज धारण करने से भाग्य में वृद्धि होगी. बल, बुद्धि, विद्या तथा ज्ञान की प्राप्ति होगी. कल्याणकारी होगा. समृद्धि देने वाला होगा।
  • वृष राशि :- इस राशि के लोगो के लिए पुखराज रत्न धारण करना अमंगलकारी है. इसे भूल कर भी ना पहने. परामर्श करके धारण करना चाहिए।
  • मिथुन राशि :- इस राशि के व्यक्ति केवल वृहस्पति की दशा में ही पुखराज रत्न धारण कर सकते है. धारण करने से पहले किसी विद्वान ज्योतिषी से प्रानार्ष करना अनिवार्य है।
  • कर्क राशि :- इस राशि के लोगो के लिए पुखराज धारण करना अति उत्तम होगा. इसे धारण करने से आर्थिक लाभ तथा ज्ञान में प्रचुर वृद्धि होगी. पिता तथा सन्तान के सुख की प्राप्ति होती है. यदि मोती और पुखराज दोनों पहने तो चमत्कारी लाभ होगा।
  • सिंह राशि :- इस राशि के लोगो के लिए पुखराज रत्न पहनना अति कल्याणकारी सिद्ध होगा. सन्तान का सुख प्राप्त होगा. विदेश में व्यापार से लाभ होगा। (Rashi Ke Anusar Pukhraj Ratna).
  • कन्या राशि :–इस राशि वालो को पुखराज रत्न धारण नहीं करना चाहिए. क्योंकि धारण करने से आर्थिक कष्ट उत्पन्न करेगा।
  • तुला राशि :- इस राशि वालो के लोगो के लिए पुखराज रत्न अति अशुभ माना गया है. पुखराज धारण करने से रोग बढ़ेंगे. शत्रु हावी होंगे, भाई बहन के सुखो में कमी होगी तथा मानसिक चिंता परेशान करेगी।
  • वृश्चिक राशि :- इस राशि वालो के लिए पुखराज रत्न शुभ अत्यंत समृद्धिदायक तथा खुशियाँ प्रदान करने वाला होगा. पुत्रों को उन्नति देगा. राज्य कृपा तथा प्रतिष्ठा में वृद्धि करेगा. पुत्रों को नाम, प्रतिष्ठा, यश प्राप्त होगा. इस राशि वालों को पुखराज जीवन भर धारण करना चाहिए। (Rashi Ke Anusar Pukhraj Ratna).
  • धनु राशि :- इस राशि वालों के लिए पुखराज रत्न सबसे श्रेष्ठ माना गया है. इसे धारण करने से शारीरिक सुख की प्राप्ति, वाहन सुख, माँ का सुख, तथा सभी प्रकार के आर्थिक लाभ प्राप्त होंगे. इस राशि वाले लोगो को पुखराज आजीवन धारण करना चाहिए. जो कि लाभकारी सिद्ध होगा।
  • मकर राशि :- इस राशि के लोगो के लिए पुखराज रत्न अशुभ होगा कभी भी पुखराज ना धारण करे. इसके कारण शारीरिक कष्ट, पिता को कष्ट, तथा रोगों को बढ़ाएगा. जीवन में कभी भी धारण नहीं करना चाहिए।
  • कुम्भ राशि :- इस राशि वालों लो पुखराज रत्न ज्योतिषी से परामर्श करके ही धारण करना चाहिए. कुछ रत्न विशेषज्ञ इस राशि वालों को पुखराज रत्न धन हेतु भी पहनाते है कई बार लाभ देता है किन्तु शारीरिक कष्ट की उत्पत्ति कर देगा। (Rashi Ke Anusar Pukhraj Ratna).
  • मीन राशि :- इस राशि वाले लोगो के लिए पुखराज रत्न आजीवन धारण करना चाहिए. इनके लिए शुभ तथा कल्याणकारी माना जाता है. धन-समृद्धि में वृद्धि करेगा. स्वास्थ्य ठीक रखेगा. विद्या बुद्धि में उन्नति देगा. पति या पत्नी के लिए शुभकारी होगा. राज्य कृपा प्राप्त होगी. उच्च पद प्राप्त होने की संभावना बड़ेगी. सभी मनोकामना पूर्ण होती है।

राशि के अनुसार पन्ना रत्न ( Rashi Ke Anusar Panna Ratna )

राशि के अनुसार पन्ना रत्न ( Rashi Ke Anusar Panna Ratna ) :

राशि के अनुसार पन्ना रत्न ( Rashi Ke Anusar Panna Ratna ) : Apni Rashi Ke Anusar Panna Ratna ke Labh  aur fayde in Hindi.

  • मेष राशि :- इस राशि के व्यक्ति को पन्ना रत्न कभी भी धारण नहीं करना चाहिए.यदि इस राशि का व्यक्ति पन्ना धारण करता है तो यह बुध ग्रह के बुरे प्रभाव को बढ़ा देगा, और अनेक प्रकार के कष्टों का सामना करना पड़ेगा।
  • वृष राशि :- इस राशि के व्यक्ति पन्ना रत्न धारण कर सकते है.इसे धारण करने से सुख-समृद्धि, धन, ऐश्वर्य, प्रतिष्ठा तथा सन्तान सुख की प्राप्ति होती है.और विद्या के लिए अति शुभ है. भाग्य में उन्नति और लाभकारी फल देता है।
  • मिथुन राशि :- इस राशि वालों को पन्ना रत्न धारण करना अति शुभ है. इसे धारण करने से मानसिक शान्ति, माता का सुख, शारीरिक सुख की प्राप्ति होती है. तथा वाहन आदि के सुख का भी द्योतक है. अत: यह लाभकारी तथा शुभ है. पन्ना पहनने से मिर्गी के दौरे भी नहीं पड़ते है।
  • कर्क राशि :- इस राशि वाले को पन्ना धारण करना अति अमंगलकारी है. पन्ना रत्न धारण करने से भाइयो के सुख में कमी, माता से कष्ट, निश्चय ही अशुभ फल की प्राप्ति होती है। (Rashi Ke Anusar Panna Ratna).
  • सिंह राशि :- इस राशि वालो को पन्ना रत्न धारण करना अति कल्याणकारी सिद्ध होगा. यह इन्हें आर्थिक लाभ, व्यवसाय में लाभ व सफलता, सन्तान सुख और प्रतिष्ठा देगा।
  • कन्या राशि :- इस राशि वाले लो पन्ना रत्न धारण करना चमत्कारी रूप से लाभकारी सिद्ध होगा. इसके धारण करने से आयु में वृद्धि, शारीरिक सुख, कर्म, व्यवसाय, राज्य कृपा, प्रतिष्ठा और पिता को सुख प्राप्त होगा. भाग्य में कई अवसर उन्नति के आते रहेंगे। (Rashi Ke Anusar Panna Ratna).
  • तुला राशि :- इस राशि के व्यक्ति के लिए पन्ना रत्न धारण करना शुभ माना जाता है. इसे धारण करने से भाग्य में उंनती के अवसर बार बार मिलेंगे. धर्म के प्रति आस्था बढ़ती है. धन की प्राप्ति सरलता से होगी. यदि पन्ना को हीरे के साथ लगा कर इस राशि के लोग धारण करे तो चमत्कारी लाभ प्राप्त होगा।
  • वृश्चिक राशि :- इस राशि के लोगो को पन्ना रत्न किसी विद्वान ज्योतिषी से परामर्श करके धारण करना चाहिए. पर बुध की सिर्फ महादशा में ही धारण कर सकते है. सोच समझ कर और कुण्डली को दिखा कर ही इसे धारण करे।
  • धनु राशि :- इस राशि वालो को कभी भी पन्ना धारण नहीं करना चाहिए. क्योंकि पन्ना धारण करने से व्यक्ति में दुषिता आती है.जो कि कष्टकारी साबित होता है।
  • मकर राशि :- इस राशि वालो को पन्ना धारण करना सदा ही लाभकारी सिद्ध होगा.पन्ना रत्न यदि नीलम के साथ या चाहे तो अकेला पन्ना रत्न भी धारण कर सकते है. इसे धारण करने से भाग्यवर्धक, यश, शारीरिक सुख की प्राप्ति होगी। (Rashi Ke Anusar Panna Ratna ke labh).
  • कुम्भ राशि :- इस राशि के लोग पन्ना रत्न धारण कर सकते है. जो इनके लिए फलदायी होगा. पन्ना रत्न को हीरा या नीलम के साथ भी धारण कर सकते है.इससे शारीरिक सुख, आर्थिक लाभ तथा सन्तान के सुख की प्राप्ति होगी. मन में स्थिरता और शान्ति प्राप्त होगी।
  • मीन राशि :- मीन राशि के व्यक्ति केवल बुध की दशा में ही पन्ना रत्न धारण कर सकते है. जो इन्हें आर्थिक दृष्टि से लाभ करेगा और माता के सुख का भी लाभ प्राप्त होगा।

राशि के अनुसार मोती रत्न ( Rashi Ke Anusar Moti Ratna )

राशि के अनुसार मोती रत्न ( Rashi Ke Anusar Moti Ratna ) :

राशि के अनुसार मोती रत्न ( Rashi Ke Anusar Moti Ratna ) : Rashi Ke Anusar Moti Ratna ke labh in Hindi.

  • मेष राशि :- इस राशि के व्यक्ति यदि मोती धारण करते है तो उन्हें मानसिक शान्ति, विद्या सुख, गृह सुख और मातृ सुख का भरपूर लाभ मिलता है. यदि मोती को मंगल के रत्न मूंगा के साथ धारण किया जाये तो विशेष धन का लाभ होने लगता है।
  • वृष राशि :- इस राशि के व्यक्ति को मोती कभी भी धारण नहीं करना चाहिए. यह शुभ फलदायक नहीं है।
  • मिथुन राशि :- इस राशि के व्यक्ति को विशेष परिस्थितियों में मोती धारण करना लाभदायक हो सकता है. चन्द्रमा की दशा में मोती धारण करे तो उन्हें आर्थिक लाभ हो सकता है. मिथुन के लिए चन्द्रमा अशुभ भी है. इसे किसी ज्योतिषी से परामर्श करके धारण करें।
  • कर्क राशि :- इस राशि के व्यक्ति के लिए मोती अति शुभ कारक रहेगा. मोती धारण करने से स्वास्थ्य तथा आर्थिक पहलू पर नियंत्रण रहेगा. इनके जीवन में विनम्रता बनाए रखने में सक्षम होगा. आर्थिक दृष्टिकोण से लाभकारी होगा।
  • सिंह राशि :- इस राशि का व्यक्ति मोती धारण कर सकता है. आंखों के रोगों को दूर करेगा. रक्त सम्बंधित रोगों को दूर करेगा. धन में वृद्धि करेगा. पिता को मानसिक शान्ति प्रदान करेगा. नींद अच्छी आएगी. पुत्र को मृत्यु से बचायेगा।
  • कन्या राशि :- इस राशि व्यक्ति यदि मोती धारण करे तो आर्थिक लाभ, यश प्राप्ति, सन्तान का सुख प्राप्त होगा. तथा कल्याणकारी साबित होगा। (Rashi Ke Anusar Moti Ratna ke labh)
  • तुला राशि :- इस राशि के व्यक्ति के लिए मोती धारण करना शुभ्ताथा लाभकारी भी है. मोती धारण करने से राज्य कृपा, अचानक धन प्राप्त, यश, पद-प्रतिष्ठा तथा समाज का गौरव प्राप्त होगा।
  • वृश्चिक राशि :- इस राशि वालो के लिए मोती धारण करना अति लाभकारी है. इसके प्रभाव से चमत्कारिक रूप से भाग्य में उन्नति, धार्मिक भावना प्रबल होगी. जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में वह सुख का अनुभव करेगा।
  • धनु राशि :- मोती धारण करना इस राशि वालो के लिए अति अशुभ होगा. इसका कारण मोती चन्द्रमा के बल को बढ़ाएगा जी इस राशि वालो के लिए हानि कारक सिद्ध होगा।
  • मकर राशि :- इस राशि वालो के लिए अपने जीवन काल में मोती कभी भी धारण नहीं करना चाहिए. स्वास्थ्य हानि तथा पति- पत्नी में वैमनस्यता बढ़ेगी। (Rashi Ke Anusar Moti Ratna ke labh)
  • कुम्भ राशि :- इस राशि के लोगों को मोती धारण नहीं करना चाहिए क्योंकि यह धन, यश, संपत्ति को नष्ट करेगा. अचानक शत्रु बढ़ेगे।
  • मीन राशि :- इस राशि के व्यक्ति को मोती अवश्य धारण करना चाहिए वह उसे सदैव यश प्रदान करेगा. बुद्धि लाभ, भाग्य उदय, विद्या की प्राप्ति, पुत्र के सुख की प्राप्ति व अन्य चमत्कारी लाभ देगा।

राशि के अनुसार मूंगा रत्न ( Rashi Ke Anusar Munga Ratna )

राशि के अनुसार मूंगा रत्न ( Rashi Ke Anusar Munga Ratna ) :

राशि के अनुसार मूंगा रत्न ( Rashi Ke Anusar Munga Ratna ) : Rashi anusar Munga Ratan ke Labh in Hindi.

  • मेष राशि :- इस राशि वाले व्यक्तिओं के लिए मूंगा सदैव लाभकारी व शुभदायक है. क्योंकि मूंगा रत्न इस राशि का रत्न है। मंगल इस राशि का स्वामी भी है. इससे इनकी आयु में वृद्धि, स्वास्थ्य में उन्नति तथा यश की प्राप्ति होगी।
  • वृष राशि :- इस राशि के लिए मूंगा रत्न कष्टकारी होगा. इस राशि वालो को इसको पहनने की कल्पना भी नहीं करनी चाहिए।
  • मिथुन राशि :- इस राशि वालो को मूंगा कभी भी धारण नहीं करना चाहिए. क्योंकि इस राशि वालो को मूंगा रत्न रोगों की उत्पत्ति करेगा इसका प्रभाव उलटा पड़ेगा।
  • कर्क राशि :- इस राशि वालो को मूंगा धारण करना अत्यंत शुभ फलदायी होगा. यदि इस राशि वाले लोग मोती और मूंगा एक साथ धारण करे तो उन्हें सन्तान का सुख, यश, मान और प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी. सभी कुछ प्राप्त करेगा।
  • सिंह राशि :- मूंगा इस राशि वाले व्यक्तियों के लिए अति उत्तम है. इसके धारण करने से मानसिक शान्ति, घर तथा भूमि लाभ, धन लाभ, यश की प्राप्ति होती है. उसका भाग्य उज्जवल होता है. शुभ राज योग कारक माना जाता है यदि मूंगा रत्न माणिक्य के साथ धारण करे तो आश्चर्यजनक लाभ प्राप्त होने लगता है. मंगल और सूर्य दशा में अत्यंत लाभकारी होता है। (Rashi Ke Anusar Munga Ratna).
  • कन्या राशि :- इस राशि वालो को मूंगा रत्न बहुत अधिक हानिकारक है. दुर्घटनाये, कष्ट देगा. छोटे भाइयो को कष्ट देने में प्रबल होगा. मृत्यु का बुलावा होगा।
  • तुला राशि :- इस राशि वालो को मूंगा कभी भी धारण नहीं करना चाहिए आयु को ख़तरा होने की संभावनाए बड सकती है. अचानक दुर्घटनाओं का सामना करना पड़ सकता है। (Rashi Ke Anusar Munga Ratna).
  • वृश्चिक राशि :- इस राशि वाले व्यक्तियों के लिए मूंगा धारण करना सुख-समृद्धि कारक तथा कल्याणकारी है.इसको धारण करने से निश्चय ही व्यक्ति की आयु में वृद्धि, स्वास्थ्य में उन्नति, तथा यश की प्राप्ति होगी.आशा से भी अधिक सुखो को भोगेगा।
  • धनु राशि :- इस राशि वाले मूंगा रत्न धारण करके सुख, यश, धन, समृद्धि, भाग्य में उन्नति तहा सामाजिक प्रतिष्ठा आदि की प्राप्ति गोगी. सन्तान सुख के लिए उत्तम रहेगा।
  • मकर राशि :- यदि इस राशि का व्यक्ति मूंगा रत्न धारण करे तो उसे जमीन जायदाद, वाहन, घर, धन की प्राप्ति, तथा माता का विशेष सुख प्राप्त होगा। (Rashi Ke Anusar Munga Ratna).
  • कुम्भ राशि :- इस राशि वालो को मूंगा रत्न धारण करना वर्जित अर्थात बिलकुल मना है. हानि कारक रहेगा.छोटे भाई एवं बहनों के लिए कष्टकारी तथा सन्तान के सुख में कमी करेगा. शारीरिक कष्ट भी हो सकते है।
  • मीन राशि :- इस राशि के लोगों के लिए सदैव ही लाभकारी होगा. यदि मूंगा रत्न पुखराज रत्न के साथ धारण करे तो भाग्य में उन्नति, धन प्राप्ति, परिवार को सुख देगा।
Ayurvedic Solution © 2016 Frontier Theme
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.