Category: धन प्राप्ति के उपाय

Dhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke Upay

धन की प्राप्ति के उपाय ( Dhan Prapti Ke Upay ) और लक्ष्मी प्राप्ति का उपाय ( Laxmi Prapti Ke Upay ) और इनकम बढ़ाने के उपाय ( income badhane ke upay ) और क़र्ज़ से मुक्ति के उपाय ( Karz Se Mukti Ke Upay ) :

Dhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke Upay in Hindi :

धन की परेशानी के उपाय ( Dhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke Upay ):

  • किसी दुकान में जाकर किसी भी शुक्रवार को कोई भी एक स्टील का ताला खरीद लीजिए। लेकिन ताला खरीदते वक्त न तो उस ताले को आप खुद खोलें और न ही दुकानदार को खोलने दें ताले को जांचने के लिए भी न खोलें। उसी तरह से डिब्बी में बन्द का बन्द ताला दुकान से खरीद लें ! इस ताले को आप शुक्रवार की रात अपने सोने के कमरे में रख दें। शनिवार सुबह उठकर नहा-धो कर ताले को बिना खोले किसी मन्दिर, गुरुद्वारे या किसी भी धार्मिक स्थान पर रख दें. जब भी कोई उस ताले को खोलेगा आपकी किस्मत का ताला खुल जायगा।

Dhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke UpayDhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke Upay

अचानक धन प्राप्ति के उपाय ( Achanak Dhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke Upay ) :

  • पांच गोमती चक्र ले कर लाल वस्त्र में बाँध कर अपनी दुकान की चौखट पर बाँध दें। यह कार्य शुक्रवार के दिन शुभ मूहर्त में करें।
  • इसके लिए आप अपने घर, दुकान या शोरूम में एक अलंकारिक फव्वारा रखें.
  • एक मछलीघर जिसमें 8 सुनहरी व एक काली मछ्ली हो रखें ! इसको उत्तर या उत्तरपूर्व की ओर रखें। यदि कोई मछ्ली मर जाय तो उसको निकाल कर नई मछ्ली लाकर उसमें डाल दें।

धन प्राप्ति के उपाय ( Dhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke Upay ) :

1. सदैव याद रखें कभी भी किसी से कोई चीज मुफ्त में न लें , हमेशा उसका मूल्य अवश्य ही चुकाएं। कभी भी किसी व्यक्ति को धोखा देकर धन का संचय न करें , इस तरह से कमाया हुआ धन टिकता नहीं है। वह उस व्यक्ति और उसके परिवार के ऊपर कर्ज के रूप में चढ जाता है और ऐसा करने से व्यक्ति के स्वयं के भाग्य और उसके कर्म से आसानी से मिलने वाली सम्रद्धि और सफलता में भी हमेशा बाधाएँ ही आती है।

2. हर एक व्यक्ति को चाहे वह अमीर हो या गरीब , उसका जो भी व्यवसाय / नौकरी हो अपनी आय का कुछ भाग प्रति माह धार्मिक कार्यों में अथवा दान पुण्य में अवश्य ही खर्च करें , ऐसा करने से उस व्यक्ति पर माँ लक्ष्मी की सदैव कृपा बनी रहती है , उसके परिवार में हर्ष – उल्लास और सहयोग का वातावरण बना रहता है तथा सामान्यता वह अपने दायित्वों के पूर्ति के लिए पर्याप्त धन अवश्य ही आसानी से कमा लेता है ।

3. स्त्रियों को स्वयं लक्ष्मी का स्वरुप माना गया है । प्रत्येक स्त्री को पूर्ण सम्मान दें । घर की व्यवस्था अपनी पत्नी को सौपें , वही घर को चलाये उसके काम में कभी भी मीन मेख न निकालें । अपने माता पिता को अपनी आय का एक निश्चित हिस्सा अवश्य ही दें । घर में कोई भी बड़ा काम हो तो उस घर के बड़े बुजुर्गों विशेषकर स्त्रियों को अवश्य ही आगे करें । अपने घर एवं रिश्तेदारी में अपनी पत्नी को अवश्य ही आगे रखें । अपनी माँ, पत्नी, बहन एवं बेटी को हर त्यौहार , जन्मदिवस , एवं शादी की सालगिरह आदि पर कोई न कोई उपहार अवश्य ही दे (Dhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke Upay)।

4. घर के मुखिया जो अपने घर व्यापार में माँ लक्ष्मी की कृपा चाहते है वह रात के समय कभी भी चावल, सत्तू , दही , दूध ,मूली आदि खाने की सफेद चीजों का सेवन न करें इस नियम का जीवन भर यथासंभव पालन करने से आर्थिक पक्ष हमेशा ही मजबूत बना रहता है ।

5. शुक्रवार को सवा सौ ग्राम साबुत बासमती चावल और सवा सौ ग्राम ही मिश्री को एक सफेद रुमाल में बांध कर माँ लक्ष्मी से अपनी गलतियों की क्षमा मांगते हुए उनसे अपने घर में स्थायी रूप से रहने की प्रार्थना करते हुए उसे नदी की बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें , धीरे धीरे आर्थिक पक्ष मजबूत होता जायेगा ।

6. प्रथम नवरात्री से नवमी तिथि तक प्रतिदिन एक बार श्रीसूक्त का अवश्य ही पाठ करें इससे निश्चय ही आप पर माता लक्ष्मी की कृपा द्रष्टि बनी रहेगी ।

7. घर के पूजा स्थल और तिजोरी में सदैव लाल कपडा बिछा कर रखें और संध्या में आपकी पत्नी या घर की कोई भी स्त्री नियम पूर्वक वहां पर ३ अगरबत्ती जला कर अवश्य ही पूजा करें ।

8. प्रत्येक पूर्णिमा में नियमपूर्वक साबूदाने की खीर मिश्री और केसर डाल कर बनाये फिर उसे माँ लक्ष्मी को अर्पित करते हुए अपने जीवन में चिर स्थाई सुख , सौभाग्य और सम्रद्धि की प्रार्थना करें , तत्पश्चात घर के सभी सदस्य उस खीर के प्रशाद का सेवन करें ।

9. हर 6 माह में कम से कम एक बार अपने माता पिता को कोई उपहार अवश्य ही दें इससे आपकी आय में सदैव बरकत रहेगी ।

10. घर में तुलसी का पौधा लगाकर वहां पर संध्या के समय रोजाना घी का दीपक जलाने से माता लक्ष्मी उस घर से कभी भी नहीं जाती है ।

रूपये / धन / पैसे बचाने का उपाए ( Dhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke Upay ):

  • क्या आप अपने  पास रूपये बचा नही पाते !! आपके घर बरकत नही रहती है क्या? क्या आप अधिक से अधिक धन कमाने के बाद भी कुछ बचा नहीं पा रहे हैं? पैसे कब आते हैं, कब चले जाते हैं कोई हिसाब-किताब नहीं, तो आजमाए यह ज्योतिष उपाए
  • मंगलवार के दिन लाल चंदन,लाल गुलाब के फूल तथा रोली लें. इन सब चीजों को लाल कपड़े में बांधकर एक सप्ताह के लिए मंदिर में रख दें. घर पर धूपबत्ती किया करें. एक सप्ताह के बाद उनको घर की तथा दुकान की तिजोरियों में रख दें आप देखेंगे कि आपकी इच्छा साकार होने लगी है
  • धन प्राप्ति के शुभकारी उपाय :सुख-समृद्धि एवं उन्नति के लिए किसी भी मास के पहले गुरूवार के दिन कच्चे सूत को केसर से रंगकर अपने घर की बाहरी दरवाजे पर बांधे।एक पात्र में जल लेकर उसमें पुष्प कुमकुम एवं चावल डालकर बरगद की जड़ में डाल दें घर में सुख समृद्धि बढ़गी।धन वृद्धि के लिए स्फटिक श्रीयंत्र को पूजा स्थान पर रखकर उसकी पूजा करें फिर उसे लाल कपड़े में लपेटकर तिजोरी में रखें इससे धन वृद्धि होती है।
  • धन बर्बादी को रोकने का उपाय :यदि पति अत्यधिक मदिरा पीने से धन की बर्बादी हो रही है तो पत्नि को वह मदिरा की बोतल पति के ऊपर से 21 बार उताकर संध्या समय भैरव मन्दिर में अर्पित करें दूसरे दिन बोतल को पति के ऊपर उतारकर संध्या समय पीपल वृक्ष पर रखकर लौट आए इस क्रिया की भनक पति को नहीं लगना चाहिए। इस उपाय से पति के पीने की लत छूट जाएगी और धन बर्बाद होने से बचेगा (Dhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke Upay)।
  • धन हानि से मुक्ति का उपाय :यदि बार-बार धन हानि हो रही हो तो गुरूवार को घर के मुख्य द्वार पर गुलाल छिड़क कर गुलाल पर घी का दो मुख वाला दीपक जलाएं दीपक जलाते समय यह प्रार्थना करें कि भविष्य में घर में कभी भी धन हानि न हो जब दीपक जलना बन्द हो जाए तो दीपक को बहते जल में प्रवाहित कर दें।
  • शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी के मन्दिर में एक जटावाला नारियल, गुलाब, कमल पुष्प माला, सवा मीटर गुलाबी, सफ़ेद कपड़ा, सवा पाव चमेली, दही, सफ़ेद मिष्ठान एक जोड़ा जनेऊ के साथ माता को अर्पित करें. माँ की कपूर व देसी घी से आरती उतारें तथा श्रीकनकधारास्तोत्र का जाप करें. धन सम्बन्धी समस्या तत्काल समाप्त हो जायेगी.
  • पहले नवरात्र में एक लाल कपड़े में ग्यारह कौड़ियाँ और तीन गोमती चक्र रख कर माता के पूजन के साथ उस पर हल्दी से तिलक करके उसे पूजा घर में रख दें । नवमी को हवन करने/कन्याओं का पूजन करने के बाद इन्हें उसी लाल कपड़े में बांधकर घर की रसोई में ऊंचाई पर बांध दें । आपके घर पर सदैव माँ लक्ष्मी का वास रहेगा।

कर्ज से छुटकारा के उपाय ( Karz se Mukti ke Upay or Dhan Prapti ke Totke ):

क्या आपके कर्ज के कारण परेशान रहते हो! आप रात में सही से सो भी नही पाते हो तो अब इस समस्या का हल बहुत जल्दी से हो जायेगा और आपको अपने कर्ज से भी निजात मिल जाएगा बस कीजिये यह छोटा सा उपाय :-

  • डेढ़ मीटर सफेद कपड़ा चौकी पर बिछा लें. पूर्व में मुंह करें तथा पांच खिले हुए साबुत गुलाब के फूल, लक्ष्मी या गायत्री मंत्र पढ़ते हुए एक-एक करके सफेद कपड़े पर रखते हुए तथा फिर हल्के हाथ से कपड़े को गुलाब के फूल सहित बांध लें. इस बंधे हुए कपड़े को गंगा या यमुना नदी में प्रवाहित कर आयें.ऐसा अपनी सुविधाकार सात बार करें. माता लक्ष्मी सहयोग देगी आपकी स्थिति में सुधार होगा तथा कर्ज से मुक्ति मिलेगी.
  • कहीं से बांस का बांदा लेकर लेकर आए। उस बांदा को घर के भीतर छत में 9 दिन तक लटकाकर दसवें दिन मिट्टी के बर्तन में बंद करके रखने से भाग्य में वृद्धि होगी और आमदनी बढऩे लगेगी। इसके अलावा आपके सभी काम बनने लगेंगे। सफलता आपके कदम चूमेगी।
  • लक्ष्मी पूजा करते समय फूल लक्ष्मी के सामने, अगरबत्ती बाएं, भोग दक्षिण दिशा में तथा दीप हमेशा बाईं ओर रखें। इससे भी धन का आगमन होने लगेगा।
  • घर के पूजा स्थल में हमेशा एक जटा वाला नारियल अवश्य रखें। नारियल को लक्ष्मी का ही स्वरूप माना गया है। इससे भी धन संंबंधी समस्याएं दूर होती हैं।

आज हमने आपको Dhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke Upay के बारे में बताया हैं, आपको इन आशा करते है की आपको हमारे Dhan Prapti ke Upay aur Laxmi Prapti Ke Upay पसंद आये होगे, इनसे आपको लाभ होगा।

Ayurvedic Solution © 2016 Frontier Theme
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.