Category: परिवार में सुख शांति के उपाय

Ghar Me Sukh Shanti Ke Upay aur Sukhi Vaivahik Jeevan Ke Upay

Sukhi Vaivahik Jeevan Ke Upay aur Ghar Me Sukh Shanti Ke Upay in Hindi :

Ghar Me Sukh Shanti Ke Upay aur Sukhi Vaivahik Jeevan Ke Upay – दोस्तों यदि आप घर में होने वाले झगड़ो से परेशान हैं। परिवार में छोटी छोटी बातों को लेकर मतभेद हो जाता हैं और घर में अशांति का माहौल रहता हैं और आप इन सब का उपाय खोज रहे हैं। तो आज हम आपको Ghar Me Sukh Shanti Ke Upay, Sukhi Vaivahik Jeevan Ke Upay, dampatya jivan sukhi banane ke upay, Pati Aur Patni Ki Ladai Ke Upay और Husband Wife Ka Jhagra Khatam Karne Ka Saral Upay के बारे में बताएंगे, जिनसे आपको कुछ फायदा हो। शादी दो परिवार और आत्माओं का मिलन हैं. इसलिए पति और पत्नी को साथ मिलकर एक दूसरे की भावनावो को समझ कर काम करना चाहिए। दोनों को एक दूसरे को समझने के लिए समय देना चाहिए। हर आदमी में खुद का दिमाग होता हैं यदि वो शांति से काम करे और दूसरों की भावनावो और विचारों को सुने तो आसानी से कार्य हो जाता हैं। कभी कभी दूसरों की खुसी में खुद खुश होकर देखना चाहिए, पति और पत्नी को एक दूसरे को खुस रखने का प्रयास करना चाहिए। जो पति और पत्नी एक दूसरे से खुश रहे वाही असल में आदमी कहलाता हैं नहीं तो वह पशु के बराबर हैं। फिर भी हम आज आपको कुछ Ghar Me Sukh Shanti Ke Upay, Sukhi Vaivahik Jeevan Ke Upay और Husband Wife Ka Jhagra Khatam Karne Ka Saral Upay के बारे में बताते हैं –

Sukhi Vaivahik Jeevan Ke Upay

परिवार में सुख शांति के उपाय (Ghar Me Sukh Shanti Ke Upay aur Sukhi Vaivahik Jeevan Ke Upay) :

  1. सुबह मुख्य दरवाजे के बाहर से सफाई करके एक गिलास पानी छिड़क दें। इससे घर में धन की बरकत होती है।
  2. अशोक का पेड़ लगाने और उसको सींचने से धन में वृद्धि होती है।
  3. अशोक के पेड़ की जड़ का एक टुकड़ा पूजा घर में रखने और रोजाना उसकी पूजा करने से घर में धन की कमी नहीं रहती।
  4. सूर्योदय के समय यदि घर की छत पर काले तिल बिखेर दें तो घर में सुख समृद्धि बनी रहती है।
  5. पानी की बाल्टी में 2 चम्मच नमक डाल दें फिर पोंछा लगाएं। इससे नकारात्मक शक्तियों का नाश होता है।
  6. यदि पति-पत्नी में झगड़ा होता रहता है, तो पूजा घर में मंगल यंत्र रखें। साथ ही रोज रसोई बनाने के पश्चात् चूल्हे को दूध से ठंडा करें। इससे संबंधों में मधुरता आती है।
  7. सदा पूर्व या दक्षिण दिशा की ओर सिर करके सोएं। पूर्व की तरफ सिर करके सोने से विद्या की प्राप्ति होती है। दक्षिण दिशा की ओर सिर करके सोने से धन और आयु में वृद्धि होती है।
  8. तुलसी के गमले में दूसरा कोई पौधा ना लगाएं। तुलसी हमेशा घर के पूर्व या उत्तर दिशा में लगाएं।
  9. मकान के उत्तरी एवं पूर्वी भाग में खाली जगह अधिक हो। इससे व्यापार वृद्धि के साथ आर्थिक उन्नति में भी वृद्धि होती है।
  10. तिजोरी के लॉकर में हमेशा दो बॉक्स रखें. एक में कुछ रूपए रख कर बंद कर दें और उसमें से रूपए ना निकालें। दूसरे बॉक्स में से काम के लिए रूपए निकालें।
  11. घर में पड़ा टूटा-फूटा फर्नीचर, बर्तन, कांच, फटे हुए कपड़े और कतरनें पड़ी हों तो तुरंत घर से निकाल दें।
  12. प्रतिदिन प्रातः पूजा करते समय शंखनाद करना चाहिए। 
  13. दांपत्य सुख में कमी हो तो दोमुखी रुद्राक्ष और गौरीशंकर रुद्राक्ष इन दोनों को धारण करने से वह कमी पूरी हो जाती है और दांपत्य सुख की प्राप्ति होती है। 
  14. विवाह के बाद जब कन्या की विदाई होने वाली हो तो किसी पीले रंग की धातु के लोटे में गंगाजल लेकर, उसमें थोड़ी सी पिसी हल्दी मिलाएं और 1 तांबे का सिक्का डालकर कन्या के ऊपर से नजर उतार दें और उसके आगे गिरा दें। इस उपाय से दांपत्य जीवन सदा सुखी रहता है। (Ghar Me Sukh Shanti Ke Upay aur Sukhi Vaivahik Jeevan Ke Upay).
  15. कन्या जब ससुराल घर में प्रवेश करती है तो यदि वह चुपचाप मेंहदी में मिले हुए साबुत उड़द गिरा दे और फिर प्रवेश करे तो उसका दांपत्य जीवन सदा सुखी रहता है।
  16. यदि पत्नी को पति अधिक समय नहीं दे पाता तो पत्नी केले के वृक्ष का पूजन और देवताओं के गुरु वृहस्पति की आराधना करे तो कुछ ही दिनों में सकारात्मक असर होने लगता है।
  17. गाय के गोबर का दीपक बनाकर उसमें गुड़ तथा मीठा तेल डालकर जलाएं। फिर इसे घर के मुख्य द्वार के मध्य में रखें। इस उपाय से भी घर में शांति बनी रहेगी तथा समृद्धि में वृद्धि होगी।
  18. एक नारियल लेकर उस पर काला धागा लपेट दें फिर इसे पूजा स्थान पर रख दें। शाम को उस नारियल को धागे सहित जला दें। यह टोटका 9 दिनों तक करें।
  19. घर में तुलसी का पौधा लगाएं तथा प्रतिदिन इसका पूजन करें। सुबह-शाम दीपक लगाएं। इस उपाय को करने से घर में सदैव शांति का वातावरण बना रहेगा।
  20. अगर घर में सदैव अशांति रहती हो तो घर के मुख्य द्वार पर बाहर की ओर श्वेतार्क (सफेद आक के गणेश) लगाने से घर में सुख-शांति बनी रहेगी। 
  21. यदि किसी बुरी शक्ति के कारण घर में झगड़े होते हों तो प्रतिदिन सुबह घर में गोमूत्र अथवा गाय के दूध में गंगाजल मिलाकर छिड़कने से घर की शुद्धि होती है तथा बुरी शक्ति का प्रभाव कम होता है। (Ghar Me Sukh Shanti Ke Upay aur Sukhi Vaivahik Jeevan Ke Upay).
  22. जो व्यक्ति यह समझते हैं कि घर के लोग उसकी बात को गंभीरता से नहीं लेते, जबकि वह हमेशा सही होता है। ऐसे व्यक्ति को नियमित रूप से जल में थोड़ा-सा गुड मिलाकर नीचे दिए गए मंत्र का जाप करने के साथ सूर्य को अर्घ्य देना चाहिए।मंत्र – ऊँ घृणिः सूर्याय नमः ।
  23. पारिवारिक झगड़े या घर के नित नए क्लेश के कारण मन अशांत रहता है, तो मिट्टी के कुल्लड़ में थोड़ा सा कच्चा दूध (बिना उबाला हुआ) लेकर उसमें कुछ बूंदे शहद की मिलाएं और उसे घर की छत, सभी कमरों, आंगन और मुख्य द्वार पर छिड़क दें। राहत मिलेगी।यदि घर में किसी भी चीज की संपन्नता स्थिर नहीं रह पाती है. तो महालक्ष्मी यंत्र को स्थापित करें, शाम के समय यंत्र का मन में स्मरण करते हुए श्रीं श्रिययै नमः का नियमित जाप करें। आप जितनी अधिक संख्या में इस मंत्र का जाप करेंगे, उतना ही लाभ मिलेगा। ध्यान रखें महालक्ष्मी यंत्र की स्थापना विषय विशेषज्ञ से ही करवाएं।
  24. घर में आपको या आपके घर के किसी परिजन को किसी से डर लगता है, तो आप पूजा स्थल में किसी विद्वान ब्रह्मण से श्री गायत्री मंत्र की स्थापना कराएं और गायत्री मंत्र ऊँ भूर्भुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात् का नित्य जाप करें। यदि आपके घर में प्रतिदिन कोई न कोई मुसीबत आती रहती है और आपको लगता है कि कोई आप पर बुरी शक्तियों का उपयोग कर रहा है, तो आप किसी भी माह के शुक्लपक्ष में सोमवार को पंडित से नवदुर्गा यंत्र को घर के मुख्य द्वार पर लगाकर रोज 21 बार ऊँ ह्रीं दुर्गायै नमः का जप करें।
  25. यदि घर में कोई न कोई अनर्थ होता रहता है, तो किसी शुभ समय में गंगाजल में पिसी हल्दी मिलाकर, उससे मुख्य द्वार के दोनों ओर ऊँ और स्वास्तिक का चिह्न बना दें।
  26. श्रीमद्भागवत गीता के 11वें अध्याय के 36वें श्लोक को गत्ते पर लाल स्याही से लिखकर टांग देने से घर की समस्त बाधाओं का अंत हो सकता है।

Ghar Me Sukh Shanti Ke Upay

Husband Wife Ka Jhagra Khatam Karne Ka Saral Upay aur Ghar Me Sukh Shanti Ke Upay aur Sukhi Vaivahik Jeevan Ke Upay :

क्या आपके घर में अशांति का माहोल रहता हैं ? आप ऐसे माहोल से गुजर रहे हो तो अब कोई परेशानी होने की बात नही हैं ! यदि आप अपने घर में खुशहाली व शांति बनाये रखना चाहते हो तो करे ! (Ghar Me Sukh Shanti Ke Upay aur Sukhi Vaivahik Jeevan Ke Upay) एक छोटा सा ज्योतिष उपाय और खुद देखे इसका असर –

  • शुक्ल पक्ष के बृहस्पति को यह क्रिया शुरू करें तथा 11 बृहस्पतिवार तक लगातार करें. घर या व्यापार स्थल के मुख्य द्वार के एक कोने को गंगा जल से धो लें। इसके बाद स्वास्तिक बनाएं. उस पर चने की दाल तथा थोड़ा-सा गुड़ रख दे। इसके बाद स्वास्तिक को बार-बार देखें. अगर वह खराब हो जाए तो सामान को इकट्ठा करके जल प्रवाह करें.11 बृहस्पतिवार के बाद गणेश जी को सिंदूर लगाकर उनके सामने पांच लड्डू रखें तथा घर में खुशहाली व शांति का माहौल बनने लगेगा
  • यदि पति पत्नी का आपस में बिना बात के झगड़ा होता है और झगडे का कोई कारण भी नही होता तो अपने शयनकक्ष में पति अपने तकिये के नीचे लाल सिन्दूर रखे व पत्नी अपने तकिये के नीचे कपूर रखे। प्रात: पति आधा सिन्दूर घर में ही कहीं गिरा दें और आधे से पत्नी की मांग भर दें तथा पत्नी कपूर जला दे।
  • वह स्त्री सोमवार से यह उपाय आरम्भ करे। प्रथम सोमवार को अशोक वृक्ष के पास जाकर धुप-दीप से अर्चना कर अपनी समस्या का निवेदन कर जल अर्पित करें। सात पत्ते तोड़कर अपने घर के पूजास्थल में रख कर उनकी पूजा करें। अगले सोमवार को पुन:यह क्रिया दोहराएँ तथा सूखे पत्तों को मंदिर तथा बहते जल में प्रवाहित कर दें।
  • अगर आपका दाम्पत्य जीवन अशांत है. तो आप रात्री में शय न करते समय पत्नी अपने पलंग पर देशी कपूर तथा पति के पलंग पर कामिया सिन्दूर रखें. प्रातः सूर्य उदय के समय पति देशी कपूर को जला दें और पत्नी सिन्दूर को भवन में छिटका दें। इस उपाय से कुछ ही दिनों में कलह समाप्त हो जाती है।
  • नवरात्र में एक नए झाड़ू की दो सीकों को उल्टा सीधा रखकर नीले धागे से बांधकर घर के नैत्रत्य कोण ( दक्षिण पश्चिम हिस्सा ) में रखने से पति पत्नी के मध्य प्यार बड़ता है। यह उपाय केवल नवरात्रा में करना है।
  • नवरात्र में दो जमुनिया रत्न लेकर उसे गंगा जल में डुबोकर घर के मंदिर में रखे फिर हर शनिवार को माता दुर्गा का स्मरण करते हुए उस जल को पूरे घर में छिड़क दें, घर के सदस्यों के बीच में प्रेम बड़ने लगेगा । इसके बाद पुन: इन रत्नों को गंगा जल में डुबोकर मंदिर में रख दें ।इस प्रयोग को नवरात्र से ही शुरू करें तो अति उत्तम है।

पति को सुधारने के उपाय ( Pati Ko Sudharne Ke Upay )

Pati Ko Sudharne Ke Upay aur Talaq Rokne Ke Upay in Hindi :

Pati Ko Sudharne Ke Upay – पति और पत्नी का मिलन दो आत्माओं का मिलन हैं. इसलिए परिवार में कोई भी बात होने पर शांति से आपस में सुलझाना चाहिए, फिर भी दोस्तों हम आपको कुछ Pati Ko Khush Kaise Rakha Jaaye Tips, Pati Ko Sudharne Ke Upay, Pati ko apna banane ke upay के बारे में बताते हैं –

पति को सुधारने के उपाय (Pati Ko Sudharne Ke Upay) :

किसी अन्य महिला के पीछे आपके पति यदि आपका अपमान करते हैं तो किसी भी गुरूवार को तीन सो ग्राम बेसन के लड्डू , आटे के दो पेड़े, तीन केले व इतनी ही चने की गीली दाल लेकर किसी गाय को खिलाये जो अपने बछड़े को दूध पिला रही हो| उसे खिला कर यह निवेदन करें की हे माँ !, मैंने आपके बच्चे को फल दिया आप मेरे बच्चे को फल देना|कुछ ही दिन में आपके पति रस्ते में आ जायेंगे !

तलाक़ रोकने के उपाय (Talaq Rokne Ke Upay) :

यदि किसी महिला अथवा किसी अन्य कारण से आपको लग रहा है की आपका परिवार टूट रहा है अथवा तलाक तक की हालत पैदा हो गयी हैं तो ऐसे परिस्थिति से बचाव के लिए किसी शिव मंदिर में श्रावण मास में आप किसी विद्वान ब्राह्मण से ग्यारह दिन तक लगातार ‘रुद्राष्टध्यायी’ जिसे म्हारुदरी यग भी कहते हैं ,से अभिषेक करवाएं !

Pati Ko Sudharne Ke Upay

प्रेमिका- सौतन को दूर करने का उपाय (Soutan Ko Dur Karne Ka Upay) :

अगर आपका जीवनसाथी, प्रेमिका, प्रेमी , भाई ,बहन, बेटी, बेटा ,रिश्तेदार, पति आप से दूर चला गया हो और वो आपको संपर्क न करे तो आप यह सरल प्रभावकारी टोटका कर सकते है ! आपका बॉस आपसे खुश नहीं रहता या आप की तरफ ध्यान नहीं देता तो भी आप यह कर सकते है !

  • आप सबसे पहले किसी भी अमावस्या के दिन दो सूखे हुए पीपल के पत्ते तोड़ ले, नीचे ज़मीन से न उठाए, जो कुछ पीले/सूखे से हो पेड़ से ही तोड़ेँ, आप जिस से प्यार करते है, या जिस व्यक्ति को प्रभावित करना चाहते हो उस का नाम दोनों पीपल के पत्तो पर लिख देँ, एक पत्ते पर काजल से लिखेँ और उसको वहीँ पीपल के पेड़ के पास उल्टा कर के रख दे और उस पर भारी पत्थर रख दे, और दूसरे पत्ते पर लाल सिँदूर से लिखेँ और उसको लाकर अपने घर की छत पर उल्टा कर के रख देँ और उस पर भी पत्थर रख दे, ये आपको आगामी पूर्णिमा तक करना है यानि 16 दिन और प्रतिदिन पीपल के पेड़ में अपने साथी को वापस पाने की प्रार्थना करते हुए पानी भी चढायेँ ।
  • कुछ दिन बाद आपने जिसका नाम लिखा था वह व्यक्ति आपसे संपर्क करेगा और वो आपकी तरफ पुनः आकर्षित होने लगेगा । फिर सभी पत्ते एकत्र कर किसी शुद्ध स्थान पर गड्ढे मेँ दबा देँ।
  • अगर पति या प्रेमी का पत्नी या प्रेमिका के प्रति प्यार कम हो गया हो तो श्री कृष्ण का स्मरण कर तीन इलायची अपने बदन से स्पर्श करती हुई शुक्रवार के दिन छुपा कर रखें। जैसे अगर साड़ी पहनतीं हैं तो अपने पल्लू में बांध कर उसे रखा जा सकता है और अन्य लिबास पहनती हैं तो रूमाल में रखा जा सकता है।
  • शनिवार की सुबह वह इलायची पीस कर किसी भी व्यंजन में मिलाकर पति या प्रेमी को खिला दें। मात्र तीन शुक्रवार में स्पष्ट फर्क नजर आएगा।
  • शुक्ल पक्ष के रविवार को ५ लौंग शरीर में ऐसे स्थान पर रखें जहां पसीना आता हो व इसे सुखाकर चूर्ण बनाकर दूध, चाय में डालकर जिस किसी को पिला दी जाए तो वह वश में हो जाता है।

Naukri Pane Ke Upay aur Naukri pane ke saral Upay

Naukri Pane Ke Upay aur Naukri pane ke saral Upay in Hindi :

Naukri Pane Ke Upay aur Naukri pane ke saral Upay – आज कल हर कोई नौकरी पाने के लिए लगा हुवा हैं लेकिन हर किसी को नौकरी आसानी से नहीं मिलती और कई लोगो को सरकारी नौकरी आसानी से मिल जाती हैं। पढाई के साथ साथ किस्मत भी जिसे हम लक कहते हैं वो भी साथ होना चाहिए। तो आज हम आपको नौकरी पाने के कुछ Naukri Pane Ke Upay, Naukri pane ke saral Upay, Naukari Pane ke Upay और Sarkari Nakuri Pane ke achuk Totke के बारे में बताते हैं –

प्रमोशन के उपाय (Naukri Pane Ke Upay aur Naukri pane ke saral Upay) :

  • गुरूवार को किसी मंदिर में पीली वस्तुये जैसे खाद्य पदार्थ, फल, कपडे इत्यादि का दान करें .
  • हर सुबह नंगे पैर घास पर चलें 
  • – शनिवार को हनुमानजी के मंदिर में जाकर सवा किलो मोतीचूर के लड्डुओं का भोग लगाएं। घी का दीपक जलाएं और मंदिर में ही बैठकर लाल चंदन की या मूंगा की माला से 108 बार नीचे लिखे मंत्र का जप करें- कवन सो काज कठिन जग माही।जो नहीं होय तात तुम पाहिं।।इसके बाद 40 दिनों तक रोज अपने घर के मंदिर में इस मंत्र का जप 108 बार करें। 40 दिनों के अंदर ही आपको रोजगार मिलेगा।
  • – शनैश्चरी अमावस्या के दिन एक कागजी नींबू लें और शाम के समय उसके चार टुकड़े करके किसी चौराहे पर चारों दिशाओं में फेंक दें। इसके प्रभाव से भी जल्दी ने बेरोजगारी की समस्या दूर हो जाएगी।
  • – मंगलवार से प्रारंभ करते हुए 40 दिनों तक रोज सुबह के समय नंगे पैर हनुमानजी के मंदिर में जाएं और उन्हें लाल गुलाब के फूल चढ़ाएं। ऐसा करने से भी शीघ्र ही रोजगार मिलता है।
  • – इंटरव्यू में जाने से पहले लाल चंदन की माला से नीचे लिखे मंत्र का 11 बार जप करें- ऊँ वक्रतुण्डाय हुंजप से पूर्व भगवान गणेश की पूजा करें और गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करते हुए दूध से अभिषेक करें।

Naukri Pane Ke Upay aur Naukri pane ke saral Upay

रोजगार एवं कार्य क्षेत्र में सफलता के कुछ अचूक उपाय (Naukri Pane Ke Upay aur Naukri pane ke saral Upay) :

1. होली के पर्व पर एक नए लाल कपडे में लाल गुलाल को बांधकर ( पोटली बना कर ) किसी तश्तरी में अपनी दुकान या घर की तिजोरी में स्थापित करने पर व्यक्ति को जीवन में अपने कार्यों में लगातार लाभ की प्राप्ति होती है , धन का आना लगातार बना रहता है ।

2. प्रत्येक शुक्रवार को लक्ष्मी नारायण मंदिर में गुड चना बाँटने और माँ लक्ष्मी की मूर्ति पर सुंगधित धूप अगरबत्ती को जलाने और उन्हें चडाने से व्यक्ति को जीवन भर अपने कार्य क्षेत्र में लाभ की प्राप्ति होती रहती है ।

3. जब भी आप अपने कार्य क्षेत्र में जाये तो अपने इष्ट देव को ध्यान करके सुगन्धित इत्र लगाकर ही घर से जाये ।

4. कपूर और रोली जलाकर उसकी राख को पुडिया बनाकर अपने घर या दुकान के धन स्थान में रखें तो निश्चित ही लाभ बना रहेगा ।

5. अपने व्यापार स्थल ,यदि नौकरी करते है तो अपने ऑफिस या आप किसी भी कार्य क्षेत्र से जिससे आप सम्बन्ध रखते है पर जाने पर एवं लौटने पर उसके द्वार की जमीन को दाहिने हाथ से छूकर अपने माथे पर अवश्य लगायें और अपने इष्ट देव का ध्यान करें इससे आपका भाग्य आप पर प्रसन्न है ,अपने कार्य क्षेत्र के प्रति अपने हर्दय में श्रद्धा एवं सम्मान रखने से ईश्वर की सदा आप पर कृपा बनी रहती है आप को हमेशा अपने कार्यों में सफलता एवं मान सम्मान की प्राप्ति होती है .( इसकी चिंता कभी भी न करें की आपके सहयोगी /साथी /कर्मचारी / अधिकारी या अन्य कोई भी आपके इस व्यव्हार के बारे में क्या सोचेगा या आपका उपहास होगा । )

6. यदि आपको अपने व्यापार ,नौकरी ,कार्य क्षेत्र में लगातार धन हानि होने लगे , आपको मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा हो लोग आपसे रुष्ट होते है तो आप अपने कार्यस्थल या अपने निवास स्थान में झाड़ू को किसी ऐसे स्थान में रखे की किसी भी बाहर वाले की सीधी निगाह उस पर न पड़े , बहुत ही जल्दी आपकी मुश्किलें कम होने लगेगीं ।

7. जिस घर में प्रेम का वातावरण रहता है , जहाँ पर कलह नहीं होती है उस घर में धन धान्य की कभी भी कमी नहीं हो सकती है ।

8. आप अपनी जीविका / कार्य क्षेत्र में किसी को अपना आदर्श अवश्य बनायें , उस व्यक्ति की तस्वीर अपने कक्ष में लगायें उस की जीवनी , उसकी शक्तियों / कमजोरियों का बहुत ही ध्यान से अध्धयन करें एक नियत समय में अपने को उस व्यक्ति की उचाई के बराबर लाने की योजना बनायें , रोज कुछ समय आप आँख बंद करके पूरी एकाग्रता से यह ध्यान करें की आप वही व्यक्ति है . किसी भी परिस्थिति में यह सोचिये की यदि आपकी जगह वह होते तो क्या करते और उसी तरह से कार्यों को करने का प्रयत्न करें .निश्चय ही आप अपने अन्दर बहुत बड़ा बदलाव महसूस करेंगे ।

9. अपने कार्य क्षेत्र में धन लाभ एवं निरंतर सफलता प्राप्त करने के लिए घर में बनने वाली पहली 3 रोटी गाय , कुत्ते और पक्षियों ( कौओं ) के लिए निकाल कर उन्हें घी और हल्का मीठा लगाकर लगाकर देने से सदैव लाभ ही लाभ की प्राप्ति होती है । बुधवार को गाय को हरी सब्जी ध्चारा एवं गुरुवार को प्रातः तुलसी में थोडा कच्चा दूध डालने से भी उस घर में हमेशा सम्रद्धि बनी रहती है ।

10. हमेशा याद रखें जिस घर में संध्या के समय लोग सोये रहते है, घर के धर्म स्थान में संध्या को धूप अगरबत्ती नहीं जलती है , उस समय झाड़ू लगाया जाता है , उस समय घर में लोग कोलाहल करते है, नाखून काटते है ऐसे घर से लक्ष्मी हमेशा रुष्ट रहती है उस घर में हमेशा आर्थिक संकट रहता है लाख प्रयत्न के बाद भी वहां पैसा कभी भी नहीं रुक पाता है ।

रोजगार पाने के उपाय (Naukri Pane Ke Upay aur Naukri pane ke saral Upay) :

  • बेरोजगार को रोजगार पाने के लिये प्रत्येक बुधवार को गणेश जी को मूंगा के लड्डू चढाने चाहिए। उस दिन व्रत भी रखें। शीघ्र ही रोजगार प्राप्त होगा।
  • नौकरी प्राप्ति (Nokari/ Nokri) के लिये एक बारहमुखी रुद्राक्ष को अभिमंत्रित कर गले में धारण करें.
  • कुएं में दूध डालें! उस कुएं में पानी होना चहिए।
  • काला कम्बल किसी गरीब को दान दें।
  • 6 मुखी रूद्राक्ष की माला 108 मनकों वाली माला धारण करें। जिसमें हर मनके के बाद चांदी के टुकडे पिरोये हों (manchahi naukri pane ke upay)।

Ayurvedic Solution © 2016 Frontier Theme
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.